Punjab & Haryana Monsoon Alert! लुधियाना-जालंधर में जमकर बरसा मानसून, अगले 72 घंटे में पंजाब-हरियाणा के कई हिस्सों में भारी बारिश के आसार

Haryana Punjab Monsoon Alert! पंजाब में मानसून की बाैछाराें से लाेगाें काे गर्मी से राहत मिली है। विभाग के अनुसार अगले 48-72 घंटे में पंजाब में बारिश की तीव्रता और बढ़ सकती है। पंजाब और हरियाणा के अधिकतर हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की जा सकती है।

Vipin KumarTue, 27 Jul 2021 08:59 AM (IST)
पंजाब में मानसून आज पूरी तरह एक्टिव हो गया है। (जागरण)

जासं, लुधियाना/चंडीगढ़। Haryana &Punjab Monsoon Alert! मानसून बुधवार काे पूरी तरह एक्टिव हो गया है। बुधवार सुबह ही शहर में काले घने बादलों ने दस्तक दे दी। शहर के कुछ हिस्सों में कल भी हल्की बूंदाबांदी हुई थी। इधर, जालंधर में पिुछले दाे दिन से रिमझिम बारिश हो रही है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग चंडीगढ़ के अनुसार अगले 48-72 घंटे में पंजाब में बारिश की तीव्रता और बढ़ सकती है।  वहीं कुछ क्षेत्रों में भारी से भारी बारिश होने के आसार हैं। 

कृषि मौसम विज्ञान विभाग, चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार के अनुसार अंबाला, यमुनानगर, करनाल, कैथल, कुरुक्षेत्र, पानीपत, सोनीपत, जींद, हिसार, रोहतक, भिवानी, झज्जर, रेवाडी, पलवल, फरीदाबाद, गुरुग्राम, मेवात  जिलों व आसपास के क्षेत्रों  में गरज-चमक के साथ कहीं- कहीं बारिश होने की संभावना है।

जालंधर सहित कई जिलाें में सुबह से हाे रही बारिश

लुधियाना और जालंधर सहित कई जिलाें में सुबह से ही भारी बारिश हाे रही है। पंजाब कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विभाग की वरिष्ठ वैज्ञानिक डाॅ. केके गिल का कहना है कि पहली बार है कि हल्की बारिश से भी दिन का तापमान इतना नीचे आया हो। लुधियाना में सुबह आठ बजे पारा 25 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। मौसम विभाग के पूर्वानुमान की मानें तो अलग-अलग इलाकों में तेज बारिश होने की संभावना है।

यह भी पढ़ें-World Hepatitis Day 2021: पंजाब में तेजी से फैल रहा हेपेटाइटिस सी, 6% लोग बीमारी से पीड़ित; जानें बचाव के उपाय

 

किसानों को आगाह किया

पीएयू की मौसम वैज्ञानिक डाॅ. केके गिल ने आगाह करते हुए कहा कि बारिश में हुए किसान फसलों पर किसी भी तरह की स्प्रे न करें। इस समय बड़े किसान धान व नरमे को कीटों से बचाने के लिए स्प्रे करते हैं। डाॅ. गिल ने कहा कि किसान अगर स्प्रे करते हैं और फिर बारिश हो जाती है, तो इससे फसल को कोई फायदा नहीं होता। बारिश होने पर फसल को नुकसान पहुंचाने वाले कीट खुद ही झड़कर नीचे गिर जाते हैं। इसके साथ ही अभी से ही खेतों में पानी की निकासी के प्रबंध करके रखें। किसी भी फसल में अधिक पानी जमा न होने दें। इससे फसल खराब हो सकती है।

 यह भी पढ़ें-Punjab: प्रेमी से शादी करने घर से भागी लड़की, आनंद कारज से पहले घरवालों ने फिल्मी स्टाइल में दाेनाें काे उठाया

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.