श्री कृष्ण-बलराम रथयात्रा में विदेशी श्रद्धालु होंगे शामिल : मदन गोयल

स्कॉन एवं भगवान जगन्नाथ रथयात्रा महोत्सव कमेटी की तरफ से 19 दिसंबर को आयोजित की जा रही श्री कृष्ण- बलराम रथयात्रा में देश-विदेश से भारी संख्या में श्रद्धालु शामिल होंगे।

JagranThu, 02 Dec 2021 07:38 PM (IST)
श्री कृष्ण-बलराम रथयात्रा में विदेशी श्रद्धालु होंगे शामिल : मदन गोयल

संस, लुधियाना : इस्कॉन एवं भगवान जगन्नाथ रथयात्रा महोत्सव कमेटी की तरफ से 19 दिसंबर को आयोजित की जा रही श्री कृष्ण- बलराम रथयात्रा में देश-विदेश से भारी संख्या में श्रद्धालु शामिल होंगे। इस रथयात्रा में जहां एक तरफ इस्कॉन के भक्त होंगे, वहीं महानगर के सैकड़ों श्रद्धालु शिरकत करके इस महोत्सव को ऐतिहासिक बनाएंगे। उपरोक्त शब्दों का प्रगटावा कमेटी के उप चेयरमैन मदन गोयल ने रथयात्रा के सेवकों के साथ बैठक में किया। उन्होंने कहा कि श्री कृष्ण- बलराम रथयात्रा में हमें अपने बच्चों को लेकर अवश्य आना चाहिए, ताकि उन्हें हमारे धर्म व इतिहास का पता चल सके। रथयात्रा कमेटी पिछले ढाई दशकों से सनातन धर्म का प्रचार-प्रसार कर धर्म सेवा का कार्य कर रही है, जिसे हमेशा याद रखा जाएगा। प्रधान सतीश गुप्ता ने कहा कि 19 दिसंबर को मंच लगाने वालों की भारी संख्या है, जो रथयात्रा महोत्सव कमेटी के साथ संपर्क करके अपना स्थान सुरक्षित कर रहे हैं। अभी से रथयात्रा मार्ग पर लगने वाले मंचों की संख्या 100 के पार हो चुकी है। श्री नवदुर्गा मंदिर सराभा नगर समापन स्थल तक सैकड़ों मंचों से रथयात्रा का भव्य स्वागत होगा। इस अवसर पर कमेटी के चेयरमैन राजेश ढांडा, महासचिव संजीव सूद बांका, उप प्रधान विपन सूद काका, प्रोजैक्ट डायरेक्टर अनिल अग्रवाल, सुरिन्द्र नैयर बिट्टू, प्रमुख संरक्षक दर्शन लाल लड्डू ने कहा कि श्री कृष्ण-बलराम रथयात्रा महानगर में लाखों भक्तों की आस्था व भक्ति का केन्द्र बन चुकी है। इसमें शामिल होने वाले प्रत्येक जन को श्री हरि विष्णु के दिव्य स्वरूप भगवान श्री कृष्ण की भक्ति प्राप्त होगी। हरिनाम संकीर्तन के माध्यम से उसका लोक-परलोक सुधरेगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.