Punjab Politics: लुधियाना के विधायकाें ने मंत्री पद के लिए चंडीगढ़ में डाला डेरा, दाैड़ में आशु सहित कई नेता

Punjab Politics नवजोत सिंह सिद्धू के सबसे करीबी माने जाने वाले संजय तलवाड़ भी चंडीगढ़ में पूरी तरह एक्टिव नजर आए। उन्हें भी उम्मीद है कि सिद्धू उन्हें मंत्री बनवा सकते हैं। खास बात यह है कि सिद्धू प्रधान बनने से पहले भी तलवाड़ के घर आए थे।

Vipin KumarTue, 21 Sep 2021 08:47 AM (IST)
कोई मुख्यमंत्री के करीब मंडराते रहे तो कुछ अपने आकाओं के पास पहुंचे। (जागरण)

लुधियाना, [भूपेंदर सिंह भाटिया]। Punjab Politics: पंजाब में नए मुख्यमंत्री की शपथ के साथ ही लुधियाना के विधायकों ने भी चंडीगढ़ में डेरा डाल दिया है। विधायक अपने आकाओं के जरिये कैबिनेट में अपनी गोटी फिट करने में जुट गए हैं। इतना ही नहीं, मुख्यमंत्री की पहली प्रेस कांफ्रेंस के दौरान विधायक कुलदीप वैद और संजय तलवाड़ भी उनके करीब नजर आए। एक दिन पहले तो भारत भूषण आशु के उप मुख्यमंत्री बनने की भी खूब चर्चाएं रहीं, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया।

इसके बाद इस बात पर नजरें गड़ी हैं कि क्या आशु को मंत्री बरकरार रखा जाता है या नहीं। अगर रखा जाता है तो क्या उन्हें पुराना विभाग ही मिलेगा या किसी नए विभाग के मंत्री बनेंगे। वैसे तो मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के लिए विधायक चंडीगढ़ पहुंचे थे, लेकिन उनका मुख्य मकसद सीएम और अपने आकाओं के करीब पहुंच अपनी दावेदारी भी जताना था।

चन्नी के अगल-बगल दिखे वैद

शपथ के बाद जब सीएम चन्नी ने पहली प्रेस कांफ्रेंस की तो गिल हलके के विधायक कुलदीप वैद उनके अगल-बगल एक्टिव नजर आए। उल्लेखनीय है कि पूर्व आइएएस अफसर को कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस्तीफा दिलाकर विधानसभा चुनाव में टिकट दी थी और वह उनके सबसे करीबी भी माने जाते थे। हालांकि कैप्टन के इस्तीफे के बाद वह सिद्धू और चरणजीत चन्नी के करीबी नजर आए।

नवजोत सिद्धू के खास माने जाते हैं तलवाड़

नवजोत सिंह सिद्धू के सबसे करीबी माने जाने वाले संजय तलवाड़ भी चंडीगढ़ में पूरी तरह एक्टिव नजर आए। उन्हें भी उम्मीद है कि सिद्धू उन्हें मंत्री बनवा सकते हैं। खास बात यह है कि सिद्धू प्रधान बनने से पहले भी जब लुधियाना आए तो सीधा तलवाड़ के घर पहुंचे थे। प्रधान बनने के बाद भी वह सबसे ज्यादा बार उनके घर आ चुके हैं। हालांकि सिद्धू के पास इतने मंत्री पद नहीं कि वह सभी की ख्वाहिश पूरी कर सकें।

छह बार जीतने के बाद भी मंत्री नहीं बने हैं पांडे

छह बार विधानसभा चुनाव जीतने के बावजूद कैबिनेट मंत्री नहीं बन पाए राकेश पांडे भी चंडीगढ़ में डेरा डाले बैठे हैं। बताया जाता है कि सिद्धू प्रधान बनने के बाद जब पहली बार उनके निवास पर पहुंचे थे तो उन्हें अगले मंत्री का आश्वासन भी दिया था।

ढिल्लों, कोटली व डाबर भी ठोक रहे दावेदारी

समराला से अमरीक सिंह ढिल्लों, खन्ना से गुरकीरत कोटली और लुधियाना से सुरिंदर डाबर भी दावेदारी ठोक रहे हैं। अब किसकी लाटरी लगती है वह समय बताएगा, लेकिन सोमवार को जिले में विधायकों के निवास पर उनके समर्थक गुड न्यूज सुनने के लिए उतावले नजर आए।

इंटरनेट मीडिया पर चले बधाइयों के संदेश

पंजाब कैबिनेट के नए मंत्रियों की घोषणा होने में अभी वक्त लगेगा, लेकिन उनके समर्थक सरकार से भी तेज दौड़ रहे हैैं। समर्थकों ने इंटरनेट मीडिया पर अपने विधायक को मंत्री बनने की शुभकामनाएं तक देनी शुरू कर दी। विधायक संजय तलवाड़ के समर्थकों ने तो उन्हें मंत्री तक बना दिया और फेसबुक पर बधाइयां देने लगे। उधर, राकेश पांडे के समर्थकों का कहना था कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि उनका हक मिलेगा, लेकिन वह किसी भी तरह के सेलिब्रेशन से पहले अच्छी खबर का इंतजार कर रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.