दशहरा का अर्थ दस अवगुणों का नाश करना: बैंस

दशहरा का अर्थ दस अवगुणों का नाश करना: बैंस

दिल्ली पब्लिक स्कूल खन्ना के विद्यार्थियों ने दशहरा के अवसर पर आनलाइन प्रार्थना सभा का आयोजन किया।

Publish Date:Mon, 26 Oct 2020 07:24 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, खन्ना : दिल्ली पब्लिक स्कूल खन्ना के विद्यार्थियों ने दशहरा के अवसर पर आनलाइन प्रार्थना सभा का आयोजन किया। कार्यक्रम के आरंभ में दसवीं कक्षा की छात्रा गुरताज पाल कौर ने त्योहार का महत्व बताया और भाषण दिया। इसके बाद मान्या शर्मा ने अपने भाषण में मां दुर्गा के नौ रूपों के बारे में बताते हुए प्रत्येक रूप का महत्व बताया। इस दौरान बच्चों को बताया गया कि रामायण से सीखी गईं कारपोरेट मैनेजमेंट की शिक्षाएं एक विलक्षण धारणा थी। इनमें एकजुटता की प्रेरणा, योजनाबद्ध गठबंधन से कार्य करना, रिश्तों के मूल्यों को समझना, संचार का महत्व शामिल हैं। पांचवीं और छठी कक्षा के छात्रों ने 'रावण दहन' पर आधारित नाटक पर प्रस्तुति दी, इनकी प्रस्तुति कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण रही।

आठवीं कक्षा की हरनूर कौर और सातवीं कक्षा की दृष्टि चीटू ने भरतनाट्यम प्रस्तुत कर सबको प्रभावित किया। डीपीएस खन्ना के चेयरमैन डीएस बैंस ने कहा कि दशहरा एक संस्कृति शब्द है जिसका अर्थ अपने अंदर के दस अवगुणों का नाश करना है। इनमें अहंकार, अमानवता, अन्याय, कामनाएं, क्रोध, लोभ, अभिमान, ईष्र्या, मोह और स्वार्थ शामिल हैं। उन्होंने बताया कि इस दिन इन दस अवगुणों पर विजय प्राप्त करने के कारण इस पर्व को 'विजयादशमी' भी कहा जाता है। उन्होंने छात्रों को कोविड-19 को खत्म करने के लिए लड़ते रहने के लिए प्रेरित किया। प्रिंसिपल शुभ मुखर्जी तथा मुख्यध्यापिका नेहा रतन के संबोधन के बाद समारोह का समापन हुआ।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.