बेअदबी मामले में राजनीति तेज, जगराओं में कांग्रेस नेता खलीफा बोले- बागी तेवर दिखाने वाले नेता पहले पार्टी छोड़ें

पेप्सू रोडवेज के डायरेक्टर पुरुषोत्तम लाल खलीफा और जिला कांग्रेस के सचिव कर्म सिंह छीना।

लुधियाना में वरिष्ठ कांग्रेसी नेता पुरुषोत्तम लाल खलीफा ने कहा कि बेअदबी और बरगाड़ी गोलीकांड के संबंध में नियमानुसार कार्रवाई की जा रही है। अगर बागी तेवर दिखाने वाले व अन्य विपक्षी पार्टियों के नेताओं में हिम्मत है तो वे हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ खुलकर सामने आएं।

Pankaj DwivediSun, 09 May 2021 02:43 PM (IST)

जगराओं, जेएनएन। श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी और बरगाड़ी गोली कांड को लेकर पंजाब की राजनीति में बवाल मचा हुआ है। पेप्सू रोडवेज के डायरेक्टर और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता पुरुषोत्तम लाल खलीफा और जिला कांग्रेस के सचिव कर्म सिंह छीना ने इसे लेकर अपनी ही पार्टी के नेताओं को कटहरे में खड़ा किया है। 

उन्होंने कहा कि पंजाब में बेअदबी की घटनाओं पर शुरू से ही कांग्रेस सरकार ने पूरी संजीदगी से काम किया है। हाई कोर्ट द्वारा कुंवर विजय प्रताप पर आधारित एसआईटी की रिपोर्ट पर टिप्पणी को लेकर कांग्रेस पार्टी के ही मंत्रियों और विधायकों का मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को जिम्मेदार ठहराना गलत है। अगर बागी तेवर दिखाने वाले नेता पार्टी के खिलाफ चलना ही चाहते हैं तो पहले उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए और फिर खुलकर सामने आना चाहिए।

खलीफा ने कहा कि 5 में से साढे 4 वर्ष सत्ता सुख भोगने वाले यह नेता अब चुनाव नजदीक आते देख पार्टी के खिलाफ बगावत पर उतर आए हैं। उन्होंने कहा कि बेअदबी और बरगाड़ी गोलीकांड के संबंध में नियमों के अनुसार ही कार्रवाई की जा रही है। अगर बागी तेवर दिखाने वाले व अन्य विपक्षी पार्टियों के नेताओं में हिम्मत है तो वे हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ खुलकर सामने आएं।

उन्होंने कहा कि यह अवसर झूठी शोहरत हासिल करने का नहीं है बल्कि आने वाले 2022 के विधानसभा चुनाव में फिर से पार्टी की शानदार जीत के लिए काम करने का है। खलीफा ने कहा कि कांग्रेस एक राष्ट्रीय पार्टी है अगर बागी तेवर दिखाने वाले इन नेताओं को बड़ा पद हासिल करने की इच्छा है तो वह हाईकमान के पास जाएं अन्यथा पार्टी की छवि को धूमल करने का कार्य ना करें।

दुकानें दोपहर 2 बजे तक खोलने की अनुमति दी जाए

खलीफा ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से निवेदन किया कि कोरोना वामहामारी के कारण पंजाब में लगाए गए लाकडाउन में दुकानों का समय निर्धारित करने पर दोबारा विचार किया जाए। उन्होंने कहा कि सभी दुकानें सुबह 5 से 12 बजे के बजाए दोपहर 2 बजे तक खोलने की इजाजत दी जाए ताकि दुकानदार अपने परिवार पाल सकें। 

यह भी पढ़ें - पंजाब में कर्फ्यू में शराब खरीदते बठिंडा देहाती की AAP विधायक के गनमैन की वीडियो वायरल

यह भी पढ़ें - Actor Sonu Sood ने माेगा की कोरोना पीड़ित महिला के इलाज का उठाया खर्च, जानें पूरा मामला

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.