उद्योग मंत्री से बोले उद्यमी, समस्याओं पर मंथन बहुत हुआ, अब हल करें

उद्योग मंत्री से बोले उद्यमी, समस्याओं पर मंथन बहुत हुआ, अब हल करें

उद्योग मंत्री यहां फोकल प्वाइंट फेज-5 स्थित सीआइसीयू में फतेहगढ़ साहिब के सांसद अमर सिंह के साथ उद्यमियों से रूबरू होने पहुंचे थे।

Publish Date:Thu, 26 Nov 2020 04:10 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, लुधियाना : 'आर्थिक मुद्दों पर लंबे अर्से से चल रहे केस, फोकल प्वाइंट फेज-8 में एनहांसमेंट के नाम पर बार-बार वसूली जाने वाली रकम, वैट रिफंड न मिलने सहित कई अहम मुद्दे इंडस्ट्री द्वारा समय-समय पर उठाए जाते रहे हैं। हालांकि हर बार ये बैठकों तक ही सीमित रह जाता है और समस्याओं का हल नहीं हो पा रहा।' यह भड़ास उद्यमियों ने बुधवार को उद्योग मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा के समक्ष निकाली। उद्यमियों ने कहा कि सरकार को बने चार साल बीत जाने के बाद भी कई मुद्दे जस के तस हैं। उद्योग मंत्री यहां फोकल प्वाइंट फेज-5 स्थित चैंबर आफ इंडस्ट्रीयल एवं कामर्शियल अंडरटेकिग (सीआइसीयू) में फतेहगढ़ साहिब के सांसद अमर सिंह के साथ उद्यमियों से रूबरू होने पहुंचे थे।

इस दौरान उद्यमियों ने अपनी समस्याओं के बारे में विस्तार से बताया। मंत्री अरोड़ा ने कहा कि वे अपनी समस्याओं को एक साथ बता देते हैं। ऐसे में हम इनकी गहराई में नहीं पहुंच पाते। इसलिए एक-एक सेक्टर की विभिन्न समस्याओं पर मंथन को लेकर उद्यमी चंडीगढ़ में बैठक रखें। इसमें संबंधित सेक्टर के अधिकारी को बुलाकर तत्काल इनके समाधान पर काम किया जाएगा।

इन उद्यमियों ने रखी अपनी समस्या

सीआइसीयू प्रधान उपकार सिंह आहुजा ने फोकल प्वाइंट की सड़कों के निर्माण के लिए तत्काल फंड जारी करने, एग्जीबिशन सेंटर बनाने, हलवारा एयरपोर्ट का निर्माण शीघ्र करने, धनानसु में छोटे प्लाट 500 से एक हजार गज के लिए 25 एकड़ जमीन आवंटित करने, ग्रामीण इलाकों से लेबर लाने के लिए ट्रांसपोर्टेशन, पावर टैरिफ को कम करने की मांग रखी। रजनीश इंटरनेशनल के एमडी रजनीश आहुजा ने ओटीएस पालिसी लाकर ब्याज माफ करने, इंडस्ट्री के विभिन्न आर्थिक मुद्दे सुलझाने और फेज-8 में एनहांसमेट रद करने की मांग की। प्लाईवुड एसोसिएशन के चेयरमैन अशोक जुनेजा ने वैट और जीएसटी रिफंड में हो रही देरी व पुराने वैट के लिए सी फार्म की अनिवार्यता पर पुनर्विचार करने को कहा। साथ ही वैट रिफंड को जीएसटी में ही तब्दील करने की मांग की। जनता नगर स्माल स्केल मैन्युफैक्चरर एसोसिएशन के प्रधान जसविदर सिंह ठुकराल ने बिना वजह नोटिस देकर कारखाना मालिकों को तंग करने का मुद्दा उठाया और नाइट टैरिफ में राहत देने की मांग की। साथ ही मिक्सलैंड यूज इलाकों को इंडस्ट्रीयल एरिया घोषित करने या कोई अन्य आप्शन नए फोकल प्वाइंट देने की मांग की।

चेयरमैन बोले- हमें इंडस्ट्री के बीच रहना है, समस्याओं का करो हल

पीएसआइइसी के चेयरमैन गुरप्रीत गोगी बस्सी ने कहा कि मंत्री जी हमें लुधियाना में ही रहना है। सरकार तो आती जाती रहेगी, लेकिन इंडस्ट्री की समस्याओं का हल किया जाए। उनके विभाग की ओर से इंडस्ट्रीयल प्लाटों के विवादों को लेकर और विभिन्न आर्थिक मुद्दों के हल के लिए ओटीएस पालिसी का खाका सरकार को भेजा गया है। इसे अप्रूव कर इंडस्ट्री को राहत दी जाए।

सांसद अमर सिंह बोले- पढ़ा लिखा हूं, अधिकारियों से करवा सकता हूं सब काम

फतेहगढ़ साहिब के सांसद अमर सिंह ने कहा कि इंडस्ट्रीयल इलाका उनके क्षेत्र में है। उन्होंने उद्यमियों के साथ अपना दुख भी जाहिर किया कि वे कभी उन्हें मौका ही नहीं देते। न तो किसी मुद्दे को लेकर उनसे संपर्क किया गया और न ही किसी औद्योगिक मींिटंग में उन्हें बुलाया। वे पढ़े लिखे और अधिकारी रह चुके है। वे केंद्र सरकार की स्कीमों को पंजाब में लाकर दे सकते हैं। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि मैं भी पढ़ा लिखा हूं और अच्छे से इंडस्ट्री के लिए काम कर सकता हूं। इस दौरान उन्होंने अपने फंड में से 25 लाख रुपए इंडस्ट्री को देने का एलान भी किया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.