लुधियाना में Bicycle Industry के डिफाल्टरों की जानकारी सोशल मीडिया पर होगी शेयर, ताकि कोई न करे उनके साथ व्यापार

लुधियाना साइकिल इंडस्ट्री का हब है और यहां पर देश विदेश से ग्राहक खरीददारी को आते हैं। (File Photo)
Publish Date:Sat, 24 Oct 2020 06:25 AM (IST) Author: Vikas_Kumar

लुधियाना, [मुनीश शर्मा]। औद्योगिक नगरी लुधियाना में आए दिन देश-विदेश से आने वाले कई ग्राहकों की ओर से कंपनियों के साथ फ्राड करने और उनसे मैटीरियल लेकर पैसे न देने के बाद किसी अन्य कंपनी के साथ व्यापार करने का सिलसिला लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसे में शहर के साइकिल निर्माताओं ने एक ऐसा तरीका ढूंढा है कि इन फ्राड कंपनियों और व्यक्तियों का पहचान की जा सके और उनका व्यापारिक और समाजिक बहिष्कार किया जा सके। इसको लेकर शहर के प्रमुख उद्यमियों की ओर से एक वाट्सएप ग्रुप बाइसाइकिल पार्ट्स डिफाल्टर ग्रुप का निर्माण किया गया है। इसमें अधिक से अधिक उद्यमियों के शामिल करने के लिए ग्रुप इनवाइट लिंक के जरिए विभिन्न ग्रुपों से अधिक से अधिक उद्यमियों को इसके साथ जोड़ा जा रहा है। ग्रुप लिमिट के बाद इसके ग्रुप पार्ट-1, 2 एवं 3 बनाने की योजना है। इसका मकसद केवल इंडस्ट्री को फेक कंपनियों से बचाने के साथ साथ किसी एक कंपनी के साथ धोखा कर दूसरी और तीसरी कंपनी संग काम कर धोखा देने वालों से सावधान करना है।

क्या है ग्रुप निर्माण का कारण

ग्रुप निर्माण की मुख्य वजह लुधियाना में लगातार दूसरे राज्यों से आकर पार्टस खरीदकर समय पर पेमेंट न करने और इसके बाद किसी अन्य कंपनी के साथ काम कर कई कंपनियों की पेमेंट्स को लटकाना है। इसके साथ ही बहुत से ऐसे डिफालटर है, जो किसी भी कंपनी के चेक चुराकर या नकली चेक देकर उत्पाद खरीदकर चकमा लगाकर चले जाते हैं। इसके साथ ही कई लोग नामी कंपनियों का एजेंट बनकर समान खरीदकर ले जाते हैं और बाद में पता लगता है कि वे इस कंपनी के साथ ही नहीं है। इसके साथ ही कई कंपनियां ऐसी है, जो चेक बाउंस करवाती है और लंबे समय तक कोर्ट कचहरी के चक्कर काटने पर भी इसका हल नहीं हो पाता। ऐसे में इंडस्ट्री इन चेहरों और कंपनियों को बाकी विक्रेताओं के संज्ञान में लाएगी। ताकि इस तरह की ठगी किसी अन्य के साथ न हो सके।

लक्ष्य लुधियाना उद्योगों को फ्राड से बचाने का

प्रिंस इंटरनेशनल के एमडी प्रिंस बांसल के मुताबिक लुधियाना साइकिल इंडस्ट्री का हब है और यहां पर देश विदेश से ग्राहक खरीददारी को आते हैं। ऐसे में इनमें से कई लोग कंपनियों के साथ फ्राड कर चले जाते हैं और कुछ समय बाद किसी अन्य को ठगी का शिकार बनाते हैं। हमारी लड़ाई किसी वास्तविक ग्राहक से न होकर फ्राड करने वालों से है। इससे अच्छे ग्राहक और कंपनियों को लाभ होगा। इस ग्रुप में हर किसी को जोड़ने का लक्ष्य है। ताकि लुधियाना में किसी के साथ फ्राड न हो।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.