लुधियाना में मोबाइल के लिए छात्र की हत्या करने वाले लुटेरा गैंग के तीनों सदस्य गिरफ्तार

10वीं के छात्र की हत्या के मामले में गिरफ्तार आरोपितों के साथ पुलिस पार्टी।

लुधियाना में दसवीं के छात्र की मोबाइल के लिए हत्या करने वाले लुटेरा गिरोह के 3 सदस्यों को थाना डाबा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से 4 मोबाइल फोन तथा हत्या में इस्तेमाल किया गया चाकू भी बरामद हुआ।

Vikas_KumarThu, 06 May 2021 05:21 PM (IST)

लुधियाना, जेएनएन। ग्यासपुरा पार्क के पास सैर कर रहे दसवीं के छात्र की मोबाइल के लिए हत्या करने वाले लुटेरा गिरोह के 3 सदस्यों को थाना डाबा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से 4 मोबाइल फोन तथा हत्या में इस्तेमाल किया गया चाकू भी बरामद हुआ। तीनों को अदालत में पेश किया गया। जहां से 2 दिन का रिमांड हासिल करके कड़ी पूछताछ की जा रही है।

एडीसीपी जसकिरण जीत सिंह तेजा ने बताया कि पकड़े गए आरोपितों की पहचान लोहारा के गुरमेल नगर की गली नंबर-2 निवासी हरविंदर सिंह उर्फ लाली, जमालपुर की गली नंबर 2 निवासी गुरमीत सिंह उर्फ गगन तथा मुंडिया खुर्द निवासी तेजराम उर्फ चिंटू के रूप में हुई। पुलिस ने 28 अप्रैल को लोहारा के प्रेम नगर की गली नंबर-2 में रहने वाले मुकेश सिंह की शिकायत पर तीन अज्ञात बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज किया था।

पुलिस को दिए बयान में मुकेश सिंह ने बताया के उनका 16 वर्षीय बेटा अमनदीप सिंह सुबह 4:30 बजे अपने दोस्त सुनील सिंह के साथ ग्यास पुरा पार्क के 33 फुटा रोड पर सर करने गया था। उसके कुछ ही समय बाद सुनील सिंह ने उन्हें फोन करके बताया कि जब वह लोग साईं कम्यूनिकेशन के सामने पहुंचे। उसी समय मोटरसाइकिल पर आए तीन बदमाशों ने उन्हें जबरदस्ती रोककर घेर लिया। आरोपितों ने अमनदीप का मोबाइल व नकदी छीनने की कोशिश की। जिस पर अमनदीप उनसे भिड़ गया। बदमाशों में से एक ने चाकू निकालकर उसके पेट में घोंप दिया और उसका मोबाइल लूटकर फरार हो गए।

पता चलते ही मुकेश सिंह अपने पड़ोसी शशांक के साथ स्कूटर पर सवार होकर घटनास्थल पर पहुंचे। वहां उनका बेटा सड़क पर लहूलुहान गिरा पड़ा था। उसे फौरन इलाज के लिए मोहनदेई ओसवाल अस्पताल में भर्ती कराया गया। मगर वहां से उसे पटियाला के राजेंद्रा अस्पताल रेफर कर दिया गया। जहां 30 अप्रैल को उसकी मौत हो गई। जिसके बाद पुलिस ने तीनों बदमाशों के खिलाफ दर्ज मामले में हत्या की धारा जोड़ कर उनकी तलाश और तेज कर दी।

एसीपी इंडस्ट्री एरिया बी संदीप बढेरा तथा थाना डाबा प्रभारी एसआई मनजिंदर कौर ने आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की दो टीमें तैयार की। वीरवार को गुप्त सूचना के आधार पर लोहारा नहर कच्ची पटरी के पास दबिश देकर पुलिस ने तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के दौरान तीनों ने अपना गुनाह कबूल कर लिया।

हरविंदर सिंह उर्फ लाली है गिरोह का सरगना

एडीसीपी तेजा ने बताया कि हरविंदर सिंह उर्फ लाली इस ग्रुप का सरगना है। उसके खिलाफ पहले ही लूटपाट के तीन मामले दर्ज हैं। गुरमीत के खिलाफ दो मामले तथा चिंटू के खिलाफ एक मामला दर्ज है। तीनों कुछ ही समय पहले जेल से छूटकर आए थे। आरोपितों ने जिस सप्लेंडर मोटरसाइकिल पर सवार होकर हत्या की वारदात की थी। उसे 24 अप्रैल को घोड़ा कॉलोनी से चोरी किया था। वारदात के समय आरोपितों ने उस पर फर्जी नंबर प्लेट लगा रखी थी। पूछताछ के दौरान पुलिस वह मोटरसाइकिल भी बरामद करवाएगी। उनसे हो रही पूछताछ में कई और अहम खुलासे होने की संभावना है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.