top menutop menutop menu

खुद को नकली Police बता चेकिंग के बहाने व्यापारी से लूट लिए ढाई लाख रुपये Ludhiana News

लुधियाना, जेएनएन। शहर में मनियारी का सामान खरीदने जाखल, जिला फतेहाबाद हरियाणा से आए व्यापारी से चार युवकों ने ढाई लाख रुपये लूट लिए। चारों युवक खुद को पुलिस के कर्मचारी बता रहे थे और व्यापारी पर नशा तस्करी का आरोप लगा चेकिंग के बहाने वारदात को अंजाम दिया। पीड़‍ित व्यापारी युवकों के पीछे भी भागा, लेकिन बाइक सवार आरोपित भागने में कामयाब रहे।

मुकेश कुमार जाखल में मनियारी की दुकान चलाता है। वह सामान खरीदने के लिए लुधियाना पहुंचा था। सुबह साढ़े नौ बजे के करीब नमक मंडी के पास पहुंचा तो चार युवक आए। वह खुद को पुलिस मुलाजिम बता रहे थे। उन्होंने व्यापारी से कहा कि उन्हें सूचना मिली है कि वह नशे की तस्करी करता है और इस लिए वह उसकी चेकिंग करना चाहते हैं। उसने जब हां की तो वे युवक बैग चेक करने लगे। आरोपितों ने बैग से ढाई लाख रुपये निकाले और फरार हो गए। पीड़ि‍त उन्हें पकडऩे के लिए पीछे भी भागा, मगर वे बाजार खाली होने के कारण फरार हो गए। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे थाना कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर राजवंत सिंह मामले की जांच कर रहे हैं। बाजार में लगे कई सीसीटीवी कैमरे चेक किए हैं।

त्योहार का सीजन आते ही व्यापारियों से लूट की वारदात होनी शुरू हो गई है। पिछले साल इसी तरह से दर्जन भर व्यापारियों को लूट का शिकार बनाया गया था। पुलिस ने अक्टूबर 2018 में लाल इरानी उर्फ बुल्डोजर को मुंबई से गिरफ्तार किया था। वह भी इसी तरह पुलिसकर्मी बनकर व्यापारियों से लूट करता था। यह गिरोह गुजरात, राजस्थान, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक सहित सात राज्यों में सक्रिय रहा है। आशंका जताई जा रही है कि त्योहार के सीजन में फिर से इसी गिरोह के सदस्य सक्रिय हो गए हैं।

शिव सेना हिंदुस्तान के प्रदेश प्रवक्ता चंद्रकांत चढ्ढा ने सीपी राकेश अग्रवाल को ज्ञापन सौंपा। संबोधित ज्ञापन में बताया गया था कि त्योहार का सीजन शुरू होते ही सर्दी के कपड़े की खरीदारी का सीजन भी शुरू होता है।इसलिए दूर-दूर से व्यापारी यहां खरीदारी करने आते हैं। इसलिए उनकी सुरक्षा को यकीनी बनाया जाए।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.