सीवरेज प्रजोक्ट रोकने की साजिश रच रहे अकाली : पाठक

जागरण संवाददाता, खन्ना

शहर में चल रहे सीवरेज प्रोजेक्ट में मिट्टी गिरने से दो मजदूरों की मौत के मामले में शुक्रवार को कांग्रेस ने अकाली दल पर गंभीर आरोप लगाए। ब्लॉक कांग्रेस प्रधान जतिदर पाठक ने प्रेस कांफ्रेस कर कहा कि लाशों पर अकाली राजनीति कर रहे हैं। विपक्ष को पीड़ित परिवारों से कोई हमदर्दी नहीं, बल्कि वे केवल सीवरेज प्रोजेक्ट को रोकने की साजिश रच रहे हैं।

पाठक ने कहा कि 72 सालों से सीवरेज की समस्या झेल रहे रेलवे लाइन पार के लोगों को अब राहत मिलने जा रही है पर शिरोमणि अकाली दल के नेताओं को शायद ये हजम नही हो रहा।

उन्होंने कहा कि सीवरेज पाइपलाइन डालते समय जो हादसा हुआ इसमें किसी का कोई कसूर नहीं है। यह अचानक हुआ हादसा है। लेकिन, इस पर भी शिरोमणि अकाली दल अपनी सियासी रोटियां सेक रही है। लोगों की तकलीफ को देखते हुए हलका विधायक गुरकीरत सिंह कोटली की ओर से किये गए प्रयासों से ही सीवरेज का काम शुरू हो सका है जो शायद इन नेताओं को मंजूर नहीं है। पाठक ने कहा कि मामले में जो धाराएं लगाई गई हैं यह बिल्कुल सही है।

नगर कौंसिल प्रधान विकास मेहता ने मृतकों के परिवारों से शोक प्रकट करते हुए कहा कि वे जल्द ही विधायक कोटली से मिलकर पंजाब सरकार से उन्हें मुआवजा दिलवाएंगे। इस संबंध में कंपनी ठेकेदार और सीवरेज बोर्ड से भी बात करेंगे। इस अवसर पर पार्षद जसवीर सिंह, पार्षद पति अमर सिंह भट्टियां, ब्लॉक कांग्रेस महासचिव संदीप घई, जसवंत सिंह, गुरी कालीराव मौजूद रहे।

कांग्रेसियों की ठेकेदार से सेटिग : यादू

यूथ अकाली दल कोर समिति के सदस्य यादविदर सिंह यादू ने कहा कि ठेकेदार के हक में बयान देने से साफ हो गया है कि कांग्रेसी नेताओं और सीवरेज ठेकेदारों की कोई सेटिग है। उन्होंने कहा कि वे सिर्फ मजदूरों के परिवारों के लिए मुआवजा मांग रहे हैं। उन्होंने सीवरेज का काम रोकने की बात नहीं की। दूसरी ओर कांग्रेसी नेता ठेकेदार की वकालत कर रहे हैं। यादू ने कहा कि वे अपनी मांग से किसी भी कीमत पर पीछे नहीं हटेंगे। कांग्रेसी लोगों को गुमराह करना बंद करें। सीवरेज प्रोजेक्ट केंद्र की एनडीए सरकार ने दिया है, कांग्रेस ने नहीं।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.