अनुसूचित आयोग के आदेश पर शुरू हुई रसूलड़ा पंचायती चुनाव मामले की जांच, शिकायतकर्ता ने पुलिस व बीडीपीओ को दर्ज कराए लिखित बयान

लुधियाना में खन्ना के गांव रसूलड़ा के सरपंच चुनावों में एक एससी युवक को चुनाव लड़ने से रोकने तथा उसके नामांकन पत्र धक्के से रद कराने के मामले में नेशनल एससी कमिशन द्वारा सख्त नोटिस लेते हुए डीसी लुधियाना से रिपोर्ट मांगी हुई है।

Vinay KumarFri, 24 Sep 2021 12:36 PM (IST)
शिकायतकर्ता जसवीर सिंह सहित अन्यों ने बीडीपीओ खन्ना को लिखित बयान दर्ज करवाए हैं।

जागरण संवाददाता, खन्ना। खन्ना के गांव रसूलड़ा के सरपंच चुनावों में एक एससी युवक को चुनाव लड़ने से रोकने तथा उसके नामांकन पत्र धक्के से रद कराने के मामले में नेशनल एससी कमिशन द्वारा सख्त नोटिस लेते हुए डीसी लुधियाना से रिपोर्ट मांगी हुई है। इस मामले में डीसी द्वारा खन्ना की एसडीएम मनजीत कौर से जांच रिपोर्ट भेजने की हिदायत दी गई। जिस पर एसडीएम ने प्रशासनिक स्तर पर बीडीपीओ खन्ना तथा पुलिस स्तर पर सदर थाना एसएचओ से जांच करने को कहा है। इस मामले में शिकायतकर्ता जसवीर सिंह निवासी रसूलड़ा ने सभी सबूतों के साथ अपने लिखित बयान बीडीपीओ खन्ना राजविंदर सिंह तथा सदर थाना एसएचओ हेमंत कुमार के पास दर्ज कराए।

अपने बयानों में जसवीर सिंह ने राष्ट्रीय एससी आयोग को भेजी शिकायत की कापी, नामांकन पत्र सही पाए जाने की कापी, बाद में नामांकन पत्र जबरदस्ती रद करने पर डीसी लुधियाना व एसडीएम खन्ना को वाट्सअप पर भेजे संदेशों की कापी, बीडीपीओ खन्ना द्वारा उन्हें जारी किए गए पत्र की कापी के साथ-साथ गुरदीप सिंह निवासी खन्ना के गवाह का एफिडेविट भी लगाया है, जिनके सामने उसे जातिसूचक शब्द बोले गए थे। भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य अनुज छाहड़िया ने बताया कि जसवीर सिंह पुत्र स्वर्ण सिंह निवासी गांव रसूलड़ा तहसील खन्ना जिला लुधियाना ने उक्त मामला नेशनल एससी कमिशन के चेयरमैन विजय सांपला के ध्यान में लाया था। पीड़ित ने लिखित शिकायत देते हुए उसका चुनाव लड़ने का अधिकार छीनने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है।

क्या है शिकायत ?

विजय सांपला को सौंपी शिकायत में जसवीर सिंह पुत्र स्वर्ण सिंह निवासी गांव रसूलड़ा तहसील खन्ना जिला लुधियाना ने बताया कि 30 दिसंबर 2018 को होने वाले पंचायती चुनावों के लिए उसने सरपंच उम्मीदवार जोकि जनरल पद था, के लिए नामांकन पत्र दिनांक 19 दिसंबर 2018 को रिटर्निंग अधिकारी (आरओ) अजीतपाल सिंह कलस्टर नंबर 4 ब्लाक खन्ना के पास जमा कराए थे। यह नामांकन पत्र रिटर्निंग अधिकारी अजीतपाल सिंह ने चेक करने के बाद दुरुस्त पाए थे। सबूत के तौर पर एक रसीद जारी की थी। दिनांक 20 दिसंबर 2018 को रिटर्निंग अधिकारी अजीतपाल सिंह कलस्टर नंबर 4 ब्लाक खन्ना ने नामांकन पत्र रद कर दिए थे। इसका कारण यह बताया गया था कि उस समय के ब्लाक विकास पंचायत अधिकारी (बीडीपीओ) धनवंत सिंह रंधावा की तरफ से उसके खिलाफ नेगेटिव रिपोर्ट होने के कारण सरपंची के नामांकन पत्र रद किए गए।

जसवीर सिंह ने एससी कमिशन चेयरमैन विजय सांपला के पास फरियाद की। अब कमिशन की तरफ से पहले चरण में संबंधित अधिकारियों से इसकी सही जांच करके रिपोर्ट भेजने को कहा गया है। अगर जांच में कोई कोताही या लापरवाही की जाएगी तो शिकायतकर्ता जसवीर सिंह को आयोग की तरफ से इंसाफ दिया जाएगा। इस मामले में आयोग अपने अधिकारों का प्रयोग करते हुए संबंधित पक्षों को अपने सामने भी तलब कर सकता है। इस मौके पर गुरदीप सिंह खन्ना, डा. गुरसेवक सिंह, दीपू रसूलड़ा, रवि रसूलड़ा, नवदीप सिंह नवी, घोगा रसूलड़ा, अमरिंदर सिंह जलाजन, गुरसेवक सिंह गिल, हरमन रौणी, दविंदर जरगड़ी, गग्गू घुटींड आदि उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.