घर के बाहर हुल्लड़बाजी से रोका तो साथियों को बुलाकर कर दिया हमला

ुल्लड़बा•ाी कर रहे युवकों ने अपने अन्य साथियों को बुलाकर विरोध करने वाले युवक और उसे बचाने आई उसकी मां और पड़ोसियों पर तेजधार हथियारों से हमला कर बुरी तरह जख्मी कर दिया। युवक के सिर पर गंभीर चोट आने पर देर रात उसे सीएमसी अस्पताल पहुंचाया गया।

JagranPublish:Mon, 06 Dec 2021 09:58 PM (IST) Updated:Mon, 06 Dec 2021 09:58 PM (IST)
घर के बाहर हुल्लड़बाजी से रोका तो साथियों को बुलाकर कर दिया हमला
घर के बाहर हुल्लड़बाजी से रोका तो साथियों को बुलाकर कर दिया हमला

जागरण संवाददाता, लुधियाना : घर के बाहर थोड़ी दूरी पर एक बंद दुकान के बाहर झुंड बनाकर खड़े कुछ युवकों द्वारा की जा रही हुल्लड़बाजी को रोकना युवक को महंगा पड़ गया। हुल्लड़बा•ाी कर रहे युवकों ने अपने अन्य साथियों को बुलाकर विरोध करने वाले युवक और उसे बचाने आई उसकी मां और पड़ोसियों पर तेजधार हथियारों से हमला कर बुरी तरह जख्मी कर दिया। युवक के सिर पर गंभीर चोट आने पर देर रात उसे सीएमसी अस्पताल पहुंचाया गया। रविवार देर रात हुई इस लड़ाई में गोली चलने की बात फैलने को लेकर इलाके में दहशत का माहौल बन गया। हालांकि पुलिस ने गोली चलने की बात को नकारा है।

थाना मोती नगर के अधीन आते न्यू विश्वकर्मा नगर निवासी नवइंदर सिंह ढिल्लों ने बताया कि रात साढ़े नौ बजे उनका बेटा अमृतपाल सिंह ढिल्लों अपनी बहन के घर से वापस आया तो देखा कि घर से पास कुछ युवक हुल्लडबा•ाी कर रहे थे। अमृतपाल ने उन्हें फटकारा और भगा दिया। इसके बाद वह अपने घर के बाहर खड़ा हो गया। थोड़ी देर में करीब 25 युवक तेजधार हथियार लेकर वहां आ गए और अमृतपाल पर हमला कर दिया, जिससे वो लहूलुहान हो गिर पड़ा। अमृतपाल को बचाने आई उसकी मां हरजीत कौर और कुछ पड़ोसियों पर भी उन युवकों ने हमला कर दिया। इस दौरान दोनों पक्षों में ईट-पत्थर भी चले। इसमें वहां खड़ी एक गाड़ी के भी शीशे टूटे है। वहीं, घटना की सूचना देने के एक घंटे बाद मौके पर पहुंची पीसीआर टीम और थाना पुलिस ने जांच शुरू की। नवइंदर सिंह ढिल्लों के मुताबिक उन्होंने एक युवक को दातर समेत पकड़कर पुलिस के हवाले किया।

इलाके के मजदूर नेता बोले, दो फायर भी हुए

इलाके में रहने वाले मजदूर नेता कामरेड चितरंजन ने बताया कि जब उन्हें इलाके की इस घटना का पता चला तो वे अपने घर पहुंचे। उन्होंने बताया कि दो गोलियां चली हैं। यह अब किस पक्ष ने चलाई है, वो उसे नहीं जानते। उन्होंने मामले की जानकारी पुलिस विभाग के आला अधिकारियों को फोन पर दे दी है। कामरेड चितरंजन ने पुलिस प्रशासन से मांग की है कि समाज में अराजकता फैलाने वाले उस व्यक्ति की पहचान कर मामला दर्ज कर कार्रवाई करनी चाहिए।

पुलिस ने गोली चलने की बात को नकारा

थाना मोती नगर के एसएचओ सुरिदर चोपड़ा ने कहा कि अभी मामले की जांच चल रही है। पीड़ित के बयान लेने के बाद मामला दर्ज किया जाएगा। उन्होंने गोली चलने की बात को कोरी अफवाह बताया और कहा कि अब तक की जांच में ऐसा कुछ भी उनके संज्ञान में नहीं आया।