बठिंडा में यूनियन बैंक की ब्रांच में लगी आग, फायर ब्रिगेड की आठ गाड़ियों ने ढाई घंटे में पाया काबू

बठिंडा की जीटी रोड पर यूनियन बैंक की ब्रांच में सुबह अचानक आग लग गई। आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है। जबकि आग लगने की घटना का पता सुबह 920 पर बैंक में पहुंचे सफाई कर्मी को ब्रांच के खोलने पर लगा।

Vinay KumarFri, 24 Sep 2021 03:32 PM (IST)
बठिंडा में यूनियन बैंक की ब्रांच में लगी आग।

जागरण संवाददाता, बठिंडा। बठिंडा की जीटी रोड पर स्थित वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल के दफ्तर की ऊपरी मंजिल पर चल रहे यूनियन बैंक की ब्रांच में शुक्रवार सुबह अचानक आग लग गई। आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है। जबकि आग लगने की घटना का पता सुबह 9:20 पर बैंक में पहुंचे सफाई कर्मी को ब्रांच के खोलने पर लगा। इसकी सूचना तुरंत बैंक अधिकारियों के अलावा फायर ब्रिगेड को दी गई। जिसके बाद फायर ब्रिगेड की टीम ने मौके पर पहुंच कर आग पर काबू पाना शुरू किया।

बैंक को जब खोला गया था तो पहले सिर्फ हल्की आग थी। लेकिन जब अन्य गेट खोले तो हवा से आग भड़क गई। जिसके साथ बैंक के शीशे टूटने लगे। देखते ही देखते आग ने भयानक रूप धारण कर लिया, जिसने बैंक का फर्नीचर, कंप्यूटर व रिकार्ड अपनी चपेट में ले लिया। हालांकि बैंक अधिकारियों का दावा है कि बेशक उनका सामान सारा जल गया है, लेकिन लोहे की अलमारियों में रखा हुआ रिकार्ड बच गया। वहीं वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल के दफ्तर की ऊपरी मंजिल पर बैंक होने से एसएसपी अजय मलूजा भी मौके पर पहुंचे, जिनके द्वारा घटना का जायजा लेने के बाद डीएसपी गुरजीत सिंह रोमाणा को आग बुझने तक वहां पर तैनात किया गया।

इसके अलावा नगर निगम की मेयर के पति संदीप गोयल व नगर सुधार ट्रस्ट के चेयरमैन केके अग्रवाल भी मौके पर पहुंचे। जबकि फायर ब्रिगेड की आठ गाड़ियों ने ढाई घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

बैंक के एजीएम नवनीत का कहना है कि उनको सुबह बैंक कर्मी के गेट खोलने पर आग लगने की सूचना मिली। हालांकि जब बैंक खोला गया था तो उस समय कोई भी अंदर नहीं था। जिस कारण जान माल का नुकसान होने से बच गया। वहीं एसएसपी अजय मलूजा ने बताया कि उनको जब आग लगने का पता लगा तो वह तुरंत माैके पर पहुंचे, जिनके द्वारा पुलिस टीम को वहां पर तैनात कर दिया गया है। ताकि कोई भी आसपास ने भटके।

इसके अलावा फायर सेफ्टी अफसर मक्खन सिंह ने बताया कि आग लगने का पता लगते ही फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को तैनात कर दिया गया। जबकि पहले डेढ़ घंटे तक आग पर काबू पाना काफी मुश्किल रहा। इस दौरान पानी की बौछारों के कारण आग बढ़ी तो नहीं, लेकिन काबू भी नहीं हुई। हालांकि 12 बजे के करीब आग बंद हुई। इसके लिए फायर ब्रिगेड की आठ गाड़ियों का इस्तेमाल हुआ। लेकिन अभी आग लगने के कारणों की जांच की जा रही है।

बिना सेफ्टी के काम करते रहे मुलाजिम

बठिंडा फायर ब्रिगेड के पास पहले से ही काफी संस्थानों की कमी है। इसके चलते अब आग लगने के समय उनके द्वारा बिना किसी सेफ्टी के काम किया जाता है। यही कारण रहा कि शुक्रवार को जब बैंक में आग लगी तो फायर ब्रिगेड के कर्मी बिना किसी अग्निशामक सूट के बैंक में आग बुझाने में लगे रहे। यहां तक कि सीढ़ियों पर चढ़ने के वक्त भी उनके पास कोई भी सेफ्टी किट नहीं थी तो ऊपर तक जाने के लिए लगाई गई सीढ़ी को भी नीचे से एक मुलाजिम ने पकड़ा हुआ था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.