top menutop menutop menu

कुल हिद खेत मजदूर यूनियन ने मांगों के लिए दिया ज्ञापन

जेएनएन, मुल्लांपुर दाखा : कुल हिद खेत म•ादूर यूनियन ने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर बीडीपीओ के मार्फत पंजाब सरकार और तहसील ़खुराक सप्लाई अफ़सर के द्वारा भारत सरकार को प्रधान भजन सिंह दाखा और तहसील सचिव बलदेव सिंह पमाल का नेतृत्व में मांग पत्र दिए।

इस मौके सीपीआई एम के राज्य सचिव कामरेड सुखविदर सिंह सेखों ने संबोधन करते कहा कि सरकार म•ादूरों की जायज मांगे मानने से आनाकानी करती आ रही हैं। जिस कारण म•ादूरों का आर्थिक स्तर दिन ब दिन गिरता जा रहा है और आज उनकी मांगों के तत्काल निपटारे सबंधी मांग पत्र दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार हर म•ादूर के खाते में 7500 रुपए प्रति महीना डाले और यह सुविधा उस परिवार के लिए भी हो जो आमदन कर नहीं भरता। इसके इलावा देश के विभिन्न हिस्सों में ठोकरें खा रहे प्रवासी म•ादूरों को घर पहुंचाने के लिए पूरी मदद की जाए। उन्होंने कहा कि मनरेगा मजदूरों के लिए 220 दिन का कार्य और 600 रुपए दिहाड़ी दी जाए। सेखों ने कहा कि किसान और म•ादूर को मरने से बचाने के लिए बिजली संशोधन बिल 2020 तुरंत वापिस लिया जाए नहीं तो वह संघर्ष के लिए मजबूर होंगे। पंजाब में म•ादूरों के काटे गए नीले कार्ड संबंधी उन्होंने कहा कि आज मजदूर जहां कोरोना के डर और तालाबन्दी के कारण घरों में बैठा गरीबी के दौर में से गु•ार रहा है वहीं वह राशन न मिलने के कारण भी निराश है। उन्होंने कहा कि पिछले लंबे समय से कम से - कम गेहूँ तो मिल जाती थी परंतु इस साल के शुरुआत में ही आधे राशन कार्ड काटना म•ादूर वर्ग के साथ सरासर धक्का है। इस मौके उन्होंने कुल हिद खेत म•ादूर यूनियन पंजाब के आहवान पर एकत्रित हुए म•ादूरों से कहा कि यदि उक्त मंागे न मानी गई तो वह अगले संघर्ष के लिए तैयार रहें । सेखों ने कहा कि सरकार उक्त मांगों के इलावा हर कार्ड धारक को 10 किलो गेहूँ / चावल प्रति व्यक्ति प्रति महीना देने के इलावा हर महीने •ारूरी 16 वस्तुएँ भी दे। इस मौके प्रधान भजन सिंह दाखा, तहसील सचिव बलदेव सिंह पमाल, सतनाम, तेजा सिंह, केवल सिंह, साधू सिंह, अजमेर सिंह जांगपुर, अमरजीत सिंह, भजन सिंह, गुरजीत सिंह, विकासदीप, हरदीप सिंह और किशन कुमार उपस्थित थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.