डीसी वरिंदर शर्मा की बेटी ने सहेली के साथ मिलकर लिखा नावेल समर एनिगमा, साहित्यकार डा. सुरजीत ने किया विमोचन

प्रतिभा और ब्राउनी ने कहा कि लाकडाउन के दौरान उन्होंने तय किया कि अपने विचारों को लिखा जाए। यह बाद में एक नावेल का रूप ले गया। जब डीसी वरिंदर शर्मा का लुधियाना ट्रांसफर हुआ तो उसके बाद दोनों इंटरनेट मीडिया के जरिये एक-दूसरे से बातचीत करती थीं।

Vinay KumarFri, 23 Jul 2021 10:55 AM (IST)
डीसी वरिंदर शर्मा की बेटी ने सहेली के साथ मिलकर नावेल लिखा है।

जागरण संवाददाता, लुधियाना। लुधियाना में चौदह वर्षीय प्रतिभा शर्मा और ब्राउनी अरोड़ा की ओर से अंग्रेजी में लिखे नावेल 'समर एनिगमा' का विमोचन वीरवार को सतलुज क्लब में पंजाबी कवि डा. सुरजीत पातर व गुरू नानक देव यूनिवर्सिटी के पूर्व वाइस चांसलर डा. एसपी सिंह ने किया। इस अवसर पर डीसी वरिंदर शर्मा, पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल, पूर्व आइएएस जंग बहादुर गोयल, पंजाबी कवि प्रो. गुरभजन गिल भी मौजूद रहे। गौरतलब है कि प्रतिभा शर्मा डीसी वरिंदर शर्मा की बेटी हैं। प्रतिभा और ब्राउनी दोनों दोस्त हैं।

इस अवसर पर प्रतिभा और ब्राउनी ने कहा कि लाकडाउन के दौरान उन्होंने तय किया कि अपने विचारों को लिखा जाए। यह बाद में एक नावेल का रूप ले गया। प्रतिभा और ब्राउनी दोनों जालंधर में पढ़ी हैं। जब डीसी वरिंदर शर्मा का लुधियाना ट्रांसफर हुआ तो उसके बाद भी दोनों इंटरनेट मीडिया के जरिये एक-दूसरे से बातचीत करती थीं। किताब का टाइटल प्रतिभा की बड़ी बहन माधवी शर्मा ने डिजाइन किया है। प्रतिभा सेक्रेड हार्ट कान्वेंट स्कूल लुधियाना और ब्राउनी जालंधर के इनोसेंट हाट्र्स स्कूल में पढ़ रही हैं। डा. सुरजीत पातर और डा. एसपी सिंह ने नावेल लिखने के लिए दोनों की तारीफ की और भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं।

सुर संगम में बच्चों ने दिखाया टैलेंट

स्कूल सिविल लाइंस में सुर संगम गायन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया । संगीत समारोह में कुंदन लाल ट्रस्ट की प्रेजीडेंट विजया गुप्ता ने मुख्यातिथि की भूमिका निभाई। चेयरमैन वीके गोयल, सेक्रेटरी अशवनी कुमार, मैनेजर कपिल गुप्ता, कोषाध्यक्ष स्टीवन सोनी और प्रधानाचार्या नविता पुरी भी मौजूद रहे। प्रतियोगिता सात ग्रुपों में हुई। इसमें एलकेजी से 12वीं तक के बच्चों ने आनलाइन आडीशंस राउंड में हिस्सा लिया जिसमें लगभग 50 बाल गायकों ने प्रतियोगिता के फाइनल राउंड में अपना हुनर दिखाते हुए अपनी प्रभावशाली गायिकी से सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस दौरान भूतपूर्व वायस आफ कुंदन विद्या मंदिर तशमीन कौर ने अपनी प्रस्तुति से भी समां बांध दिया। विजेता रहने वाले बच्चों को पुरस्कृत किया गया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.