सस्ती बिजली की आस लगाए बैठे लाेगाें काे पावरकाम का झटका, आने लगे भारी भरकम Bill; रेहड़ी वाले काे भेजा 87 हजार बिल

सस्ती बिजली की आस में लोग जहां सरकार से राहत की उम्मीद लगाएं बैठे थे वहीं पावरकाम ने भारी भरकम बिजली बिल भेजकर खपतकारों को बिजली को जोरदार झटका लगा दिया है। लाेगाें काे ज्यादा बिल आ रहे हैं।

Vipin KumarSun, 28 Nov 2021 04:47 PM (IST)
मेन्युअल बिल व आनलाइन बिलों में दोहरी राशि का अंतर। (सांकेतिक तस्वीर)

मनदीप कुमार, संगरूर। बिजली बिल...। सस्ती बिजली की आस में लोग जहां सरकार से राहत की उम्मीद लगाएं बैठे थे, वहीं पावरकाम ने भारी भरकम बिजली बिल भेजकर खपतकारों को बिजली को जोरदार झटका लगा दिया है। जी हां यह बिल्कुल सच है कि पावरकाम ने तीन रुपये बिजली दर कटौती के नोटिफिकेशन के दिन ही उपभोक्ताओं को एवरेज खपत के बिजली बिल भेज दिए हैं। इनमें कई उपभोक्ता ऐसे हैं जिन्हें कुछ दिन पहले ही मैन्यूअल तरीके से कम राशि के बिजली बिल भेजे गए थे, लेकिन अब पावरकाम ने आनलाइन तरीके से अधिक राशि के एवरेज खपत के आधार पर बिल जारी कर दिए हैं। ऐसे में सरकार से सस्ती बिजली की उम्मीद लगाने वाले खपतकारों के लिए पावरकाम का यह तरीके आफत बन गया है, क्योंकि अब लोगों को अधिक राशि का भुगतान करना होगा। इतना ही नहीं, शहर में एक गोलगप्पा व्यापारी को पावरकाम ने 87 हजार रुपये का बिजली बिल थमा दिया है।

पहले 3 हजार, 3 दिन बाद भेजा साढ़े छह हजार का बिल

संगरूर के एक उपभोक्ता को 20 नवंबर को पावरकाम ने मैन्यूअल तरीके से 468 यूनिट का 3087 रुपये का बिजली बिल भेज दिया। किंतु सस्ती बिजली दर के नोटिफिकेशन के बाद पावरकाम ने आनलाइन तरीके से 23 नवंबर की रात को एवरेज खपत के आधार पर 962 यूनिट खपत दिखाकर 6870 रुपये की राशि का बिल भेज दिया गया।

खपतकार हैरान व परेशान

सस्ती बिजली की आस लगाए बैठे लोगों पावरकाम की इस मनमानी से काफी हैरान व परेशान है। पावरकाम ने रातों रात उपभोक्ताओं को एवरेज अनुसार बिजली बिल जारी कर दिए हैं। नवंबर माह के अंतिम दिनों में दिन उपभोक्ताओं को मेन्युअल बिल भेजे गए थे, उनमें आनलाइन रजिस्टर्ड उपभोक्ताओं को एवरेज के अनुसार दोहरी राशि के बिल जारी कर दिए गए हैं। यह कोई इक्का-दुक्का मामला नहीं है, बल्कि शहर भर के उपभोक्ता इसका शिकार हुए हैं।

गोलगप्पे की रेहड़ी लगाने वाले का बिल 87 हजार

शहर की करतारपुरा बस्ती निवासी अवनीश कुमार को पावरकाम ने 87 हजार रुपये का बिजली बिल भेज दिया है। घर पर एक पंखा, एक बल्ब, एक टीवी ही मौजूद है, जबकि अवनीश को मिले इस भारी भरकत बिल के कारण अवनीश कुमार बेहद परेशान है।  बिल दुरुस्त करवाने के लिए वह पावरकाम के दफ्तरों में धक्के खा रहा है।

लोगों को गुमराह कर रही चन्नी सरकारः जवंधा

आम आदमी पार्टी के प्रांतीय नेता डा. गुनिंदरजीत सिंह जवंधा ने बिजली दर में कटौती की घोषणा को सरकार का गुमराहकुन एलान करार दिया। उन्होंने कहा कि सरकार सस्ती बिजली के खोखले एलान कर रही है, जबकि लोगों को भारी भरकम बिजली बिल भेजे जा रहे हैं। अभी तक किसी को सस्ती बिजली का लाभ नहीं मिला है।

तकनीकी गलती की संभावनाः एसई

पावरकाम के एसई संगरूर आरके मित्तल ने बताया कि तकनीकी गलती की वजह से उपभोक्ताओं को ऐसे बिल जारी हो सकते हैं। उपभोक्ता अपने नजदीकी उपभोक्ता केंद्र पर जाकर इसकी जांच करवा सकता है। किसी को भी बेवजह बढ़ी हुई दर पर बिजली बिल नहीं भेजे गए हैं। वह अपने स्तर पर भी इसकी जांच करवाएंगे, ताकि स्थिति स्पष्ट हो सके।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.