Free Electricity: पंजाब में बिजली बिल माफी को लेकर असमंजस में उपभाेक्ता, जानें क्या है पेच

Free Electricity पंजाब में बिजली बिल माफी काे लेकर पेच फंस गया है। रीना चोपड़ा का कहना है कि एक ओर सरकार सारा बिल माफ करने की बात की थी जबकि पावरकॉम के अधिकारी नए बिल में बिल लगाकर भेज रहे हैं।

Vipin KumarThu, 25 Nov 2021 12:10 PM (IST)
पंजाब में बिजली बिल माफी काे लेकर पेच फंस गया है। (सांकेतिक तस्वीर)

लुधियाना, [डीएल डॉन]। Free Electricity: पंजाब सरकार की तरफ से बिजली बिल माफी की घोषणा के बाद से कंज्यूमर असमंजस में हैं। जिले में अब तक करीब 37,000 बिजली उपभोक्ताओं के आवेदन पावरकॉम कार्यालय में जमा हुए हैं। पावरकाॅम की ओर से जुलाई तक का पेंडिंग बिल माफ कर दिया गया जबकि अगस्त के बाद से जो रकम थी उसे कंज्यूमर के अगले बिल के साथ जोड़कर भेज दिया गया।

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी द्वारा ऐलान किया गया था कि 2 किलोवाट बिजली उपयाेग करने वाले उपभाेक्ताओं का बकाया बिल सितंबर तक का माफ कर दिया जाएगा। पावरकॉम ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के घोषणा को दरकिनार कर जुलाई तक बिजली बिल माफ किया है। इसके बाद की राशि नए बिल में लगाकर कंज्यूमर को भेजा जा रहा है, जिससे कंज्यूमर सकते में है।

रीना चोपड़ा का कहना है कि एक ओर सरकार सारा बिल माफ करने की बात की थी जबकि पावरकॉम के अधिकारी नए बिल में बिल लगाकर भेज रहे हैं। चोपड़ा ने बताया कि उनका ₹29,000 पेंडिंग बिल था जिसमें ₹22,000 माफ किया गया जबकि सात हजार के करीब नए बिल में संलग्न कर उन्हें बिल भेजा गया है। इसी तरह रिपुसूदन कौशिक का कहना है कि उनके बिल की राशि भी पूरा माफ नहीं किया गया जिससे उन्हें परेशानी है।

यह भी पढ़ें-Punjab Assembly Election 2022: लुधियाना नार्थ से शिअद ने भाजपा से आए आरडी शर्मा पर लगाया दांव, राेचक हाेगा मुकाबला

सरकार के निर्देश पर बिल माफ करेंगेः पावरकाॅम

2 किलोवाट बिजली पेंडिंग बिल पूरा माफ नहीं होने के बारे में पावरकॉम के चीफ इंजीनियर भूपेंद्र खोसला से बात करने पर उन्होंने कहा कि विभागीय निर्देश उन्हें जहां तक मिली थी वहां तक राशि माफ कर दी गई हैं। पावरकॉम सरकार के निर्देश पर बिल माफ करेगा।

यह भी पढ़ें-Auto Politics: अरविंद केजरीवाल की राह पर सीएम चन्नी, आटो के पीछे लगवाएंगे अपने बैनर; हायर की कंपनी

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.