मोगा में दुल्हन करती रही इंतजार, लुधियाना के दूल्हेे ने किसी और से ही रचा दी शादी, पढ़ें क्या है मामला..

इंतजार करती रही दुल्हन नहीं आया दूल्हा। सांकेतिक फोटो

एक युवक ने नाबालिग लड़की से दुष्कर्म किया था। अब जब लड़की की शादी तय हो गई तो दुष्कर्म करने वाला युवक का भाई उसमें रोड़ा बन गया। उसने कथित शादी की बात कहते हुए बरात लौटा दी।

Publish Date:Tue, 26 Jan 2021 09:34 AM (IST) Author: Kamlesh Bhatt

मोगा [सत्येन ओझा/ राजकुमार राजू]। महज 14 साल की उम्र में शादी का झांसा देकर भगा ले जाने वाला युवक का भाई युवती की असल शादी में खलनायक बन गया। युवती दुल्हन के रूप में सज चुकी थी, शादीराम होटल में शादी की सभी तैयारियां हो गई थीं, तभी गांव में आ रही बारात को अचानक दुष्कर्म के आरोप में सजा भुगत रहे युवक के भाई ने रास्ते में रोककर दुल्हन की साल 2016 में हुई कथित शादी के दस्तावेज दिखाकर कहा कि जिसके साथ वे शादी रचाने जा रहे हैं, उसकी शादी तो साल 2016 में हो चुकी है। इसी बात पर बात बिगड़ गई।हाथ पीले कराकर दुल्हन इंतजार करती रही, दूूल्हा पक्ष किसी और को दुल्हन बनाकर ले गया।

क्या है मामला

लुधियाना जिले के गांव मनसियां बाजन निवासी 25 वर्षीय हरजिंदर सिंह की तीन दिन पहले धर्मकोट के गांव रेहड़वां निवासी एक 19 साल की किशोरी के साथ शादी तय हुई थी। रिश्ता मोगा के ही गांव किशनपुरा निवासी लखबीर सिंह ने कराया था। लड़की के जीजा सुरजीत सिंह ने बताया कि उन्होंने बिचौलिया को बता दिया था कि उसकी साली को साल 2016 में 30 साल का अवतार सिंह तारी के साथ आए करीब सात लोग शादी का झांसा देकर उठा ले गए थे। उस समय उनकी साली की उम्र 14 साल तीन महीने की थी।

पुलिस में केस दर्ज होने के छह महीने बाद लड़की बरामद कर उसके मां-बाप के सुपुर्द कर दी थी। उन्होंने बताया कि लुधियाना के हरजिंदर सिंह की शादी पहले कहीं हरियाणा में तय हुई थी, वो शादी एन मौके पर टूटने के बाद बिचौलिये की मध्यस्थता में आनन-फानन में उनकी साली के साथ रिश्ता तय हुआ था। लड़की पक्ष ने धर्मकोट के होटल शादीराम में शादी की सभी तैयारियां कर ली थीं, लड़की भी दोपहर करीब दो बजे ब्यूटी पार्लर से दुल्हन के रूप में तैयार होकर होटल में पहुंच चुकी थी। बारात गांव में धूम धड़ाके के साथ आ रही थी, इसी बीच दुष्कर्म के केस में सजा पा चुके अवतार सिंह के भाई ने बारातियों को बीच में रोककर कहा जिस युवती के साथ वे लोग शादी रचाने जा रहे हैं, उसकी शादी तो साल 2016 में उसके भाई के साथ हो चुकी है।

उसने शादी के कुछ ब्लेक एंड व्हाइट फोटो भी दिखाए। ये सब देखने के बाद दूल्हा व उसके परिवार के लोग रास्ते में ही रुक गए। बाद में वे बिचौलिये के पास गांव किशनपुरा जा पहुंचे, वहीं पर लड़की वालों को बुला लिया। बात नहीं बनी, तो देर शाम को दूल्हा बारात लेकर लड़की के घर जा पहुंचा, घर पर ताले लटके थे क्योंकि लड़की पक्ष के लोग घर के ताले लगाकर होटल में बारात का इंतजार कर रहे थे। लड़के वालों ने वहीं पर पुलिस को बुलाकर शिकायत कर दी कि लड़की पक्ष ने उनके साथ धोखाधड़ी की है, वे बारात लेकर आए हैं, लेकिन लड़की पक्ष के लोग घर का ताला लगाकर फरार हो गए।

इस बीच दूल्हा पक्ष के लोगों ने कपूरथला जिले में दूसरे स्थान पर शादी की बात तय कर वहां सोमवार को शादी रचाकर दुल्हन को विदा कराकर ले गए। इस संबंध में थाना धर्मकोट के प्रभारी इंस्पेक्टर गुरजिंदर सिंह ने बताया कि गलत फहमी के कारण दोनों पक्षों में विवाद हुआ था, उनके पास कोई लिखित शिकायत नहीं आई है। दूूल्हे के फूफा कंवर सिंह का कहना है कि उन्हें लड़की की पहली शादी के बारे में नहीं बताया गया था, उनके साथ धोखाधड़ी हुई है। जिसकी शिकायत भी उन्होंने पुलिस से की है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.