भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज ने संविधान दिवस मनाया

भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज (रजि) भावाधास के राष्ट्रीय संचालक नरेश धींगान की अध्यक्षता में भावाधास के केंद्रीय कार्यालय ढोलेवाल में संविधान दिवस मनाया।

JagranPublish:Sat, 27 Nov 2021 06:06 PM (IST) Updated:Sat, 27 Nov 2021 06:06 PM (IST)
भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज ने संविधान दिवस मनाया
भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज ने संविधान दिवस मनाया

संस, लुधियाना : भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज (रजि) भावाधास के राष्ट्रीय संचालक नरेश धींगान की अध्यक्षता में भावाधास के केंद्रीय कार्यालय ढोलेवाल में संविधान दिवस मनाया। सर्वप्रथम डा. भीम राव आंबेडकर को सदस्यों ने फूल मालाएं अर्पित कर याद किया। इस अवसर पर नरेश धींगान ने कहा कि 1949 को संविधान बनाने के लिए कमेटी के सभापति डा. भीम राव आंबेडकर ने भारतीय संविधान को राष्ट्रपति डा. राजेंद्र प्रसाद को सौंपा। इसके दो माह पश्चात 26 जनवरी 1950 को इस संविधान को देश में लागू कर दिया। उन्होंने कहा कि डा. आंबेडकर को दुनिया के सबसे शक्तिशाली संविधान की रचना की। इस अवसर पर नीरज सुभाऊ, पिका चंडालिया, राकेश चनालिया, शिव कुमार पारचा, प्रदीप लांबा, हैपी राहत, भूपाल सिंह, सुधीर विडलान, सोनू शर्मा, सुभाष सौदे, राज कुतार नाहर, रमेश बिटटू, विकास सौदे, मोनू धींगरा, एडवोकेट अर्जुन धींगान आदि शामिल थे।