रेफरेंडम-2020 गतिविधियों में संलिप्त लुधियाना का एक और युवक गिरफ्तार, घरों की दीवार पर लिखे थे देश विरोधी नारे

आठवीं पास 19 वर्षीय जश्नप्रीत ने नौंवीं क्लास में स्कूल जाना छोड़ दिया था। वो गांव में अपने पिता गुरमीत सिंह के साथ खेतीबाड़ी का काम करता था मगर पिछले कुछ समय से वह गुरविंदर सिंह के साथ अलगाववादी माड्यूल से जुड़ गया था।

Vipin KumarMon, 20 Sep 2021 09:28 AM (IST)
थाना डेहलों पुलिस ने एक अन्य युवक को काबू किया है। (सांकेतिक तस्वीर)

लुधियाना, [राजन कैंथ]। रेफरेंडम 2020 गतिविधियों को बढ़ावा देकर पंजाब का माहौल खराब करने के आरोप में शुक्रवार को तीन युवकों को गिरफ्तार करने के बाद थाना डेहलों पुलिस ने एक अन्य युवक को काबू किया है। उसकी पहचान दोराहा के गांव रामपुर स्थित आसा पत्ती निवासी जश्नप्रीत सिंह मांगट के रूप में हुई। जश्नप्रीत इस मामले में पहले से गिरफ्तार गुरविंदर सिंह उर्फ बाबा का चचेरा भाई है।

पुलिस में दर्ज केस के अनुसार 18 अगस्त की रात को इन लोगों ने गिल गांव की गलियों में दीवारों पर स्प्रे पेंट के साथ खालिस्तान जिंदाबाद तथा किसानों का हल खालिस्तान जैसे देश विरोधी नारे लिख कर राज्य का माहौल खराब करने का प्रयास किया था। इनसे यह काम करवाने के लिए विदेश में बैठा आतंकी गुरपतवंत ¨सह पन्नू हर प्रकार की मदद कर रहा है। इंस्पेक्टर सुखदेव सिंह ने बताया कि जश्नप्रीत मांगट को रविवार को दोराहा जीटी रोड से काबू किया गया।

आठवीं पास 19 वर्षीय जश्नप्रीत ने नौंवीं क्लास में स्कूल जाना छोड़ दिया था। वो गांव में अपने पिता गुरमीत सिंह के साथ खेतीबाड़ी का काम करता था, मगर पिछले कुछ समय से वह गुरविंदर सिंह के साथ अलगाववादी माड्यूल से जुड़ गया था। गिल गांव की गलियों में देश विरोधी नारेबाजी के बाद पुलिस ने जब इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली तो उसमें गुरविंदर के साथ जश्नप्रीत भी नजर आया। अब तक की जांच में पाया गया गया है कि दोनों भाई जिला फतेहगढ़ साहिब, मोहाली तथा रोपड़ के देहाती इलाकों में जाकर भी स्प्रे पेंट से खालिस्तान के समर्थन में नारे लिख चुके हैं। जश्नप्रीत को सोमवार को अदालत में पेश किया जाएगा। इस मामले में पुलिस ने अमेरिका में रहते गुरपतवंत सिंह पन्नू, हरप्रीत सिंह, बिक्रमजीत सिंह और गुरसहाय मखू और खन्ना के जगजीत सिंह मांगट के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है।

पन्नू के समर्थक पैसों का लालच देकर जोड़ रहे युवाओं को

इंटेलिजेंस के पास रिपोर्ट है कि आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू विदेश में बैठ कर यूथ को अपने साथ जोड़ रहा है। एजेंसियों के पास पुख्ता सूचना है कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में उसके 13 से ज्यादा समर्थक हैं, जो गुपचुप तरीके से अपने भड़काऊ भाषण द्वारा यूथ को अपने साथ जोड़ने का काम कर रहे हैं। पहले पकड़े गए तीनों आरोपितों के कब्जे से मिले तीन मोबाइल फोन कई विदेशी नंबर मिले हैं। उन्हीं नंबर के माध्यम से वह विदेश में वाट्सएप काॅल किया करते थे। वह लोग जिस गांव में जाकर स्प्रे पेंट से नारेबाजी लिखते, वहीं से वीडियो काॅल करके वह आतंकी पन्नू को दिखाया करते थे। उसी के हिसाब से विदेश से उन्हें फंडिंग की जाती थी। पुलिस की टीमें उनके अकाउंट्स भी खंगाल रहीं हैं।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.