1925 कॉलेज अध्यापक फ्रंट ने किसानों के संघर्ष का किया समर्थन

1925 कॉलेज अध्यापक फ्रंट ने किसानों के संघर्ष का किया समर्थन
Publish Date:Thu, 24 Sep 2020 03:16 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, जगराओं : 1925 कॉलेज अध्यापक फ्रंट पंजाब ने खेती विधेयक के खिलाफ किसान व खेत मजदूर जत्थेबंदियों की ओर से शुरू किए संघर्ष को समर्थन देने की घोषणा की। जत्थेबंदी के प्रधान प्रो. वरूण गोयल ने कहा कि उक्त किसान व मजदूर जत्थेबंदियों के संघर्ष को न्यू ग्रांट इन एड कॉलेज अध्यापकों की ओर से समर्थन दिया जाएगा।

प्रो वरूण गोयल ने केंद्र सरकार को नए खेती विधेयक लागू करने के फैसले को पुन: संशोधन करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि ऐसे वातावरण में शिक्षा ढांचा खासकर उच्च शिक्षा से जुडे़ शिक्षा संस्थानों को भी बड़ा खामियाजा उठाना पड़ेगा। इसलिए 1925 कॉलेज अध्यापक फ्रंट पंजाब अपने कॉलेजों के विद्यार्थियों व उनके परिवारों के उज्जवल भविष्य के लिए हर मजदूर व किसान के संघर्ष को समर्थन देगा। पंजाब पुलिस वेलफेयर एसोसिएशन भी किसानों के हक में आई संवाद सहयोगी, जगराओं : पंजाब पुलिस एसोसिएशन लुधियाना देहात की बैठक प्रधान मेहर सिंह कलेर की अगुआई में हुई जिसमें सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया कि केंद्र सरकार की ओर से पास कृषि विधेयक के खिलाफ पंजाब पुलिस एसोसिएशन जगराओं किसानों के संघर्ष में उनके साथ है और प्रदर्शनों में उनका पूरी तरह से साथ देगी।

मेहर सिंह कलेर ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा धक्केशाही से जो किसान विरोधी बिल पास किए गए हैं उनके आने वाले समय में खतरनाक नतीजे सामने आएंगे। किसान यूनियन द्वारा 25 सितंबर को किए जाने वाले संघर्ष में पंजाब भर से पंजाब पुलिस एसोसिएशन के सभी सदस्य धरना प्रदर्शन में शामिल होंगे। इस मौके इंस्पेक्टर मोदन सिंह, पूर्व सरपंच चूहड़ सिंहा, यादवेंद्र सिंह पूर्व प्रधान, दर्शन सिंह वाइस प्रधान, मुख्तियार सिंह वाइस प्रधान, संतोष सिंह सचिव, गुरचरण सिंह चौकीमान, हरपाल सिंह पूर्व सरपंच, सुखदर्शन सिंह और विचित्र उपस्थित थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.