Dengue Cases in Ludhiana: शहर में थम नहीं रहा डेंगू का प्रकोप: पाश एरिया में 19 नए मरीज मिले

Dengue Cases in Ludhiana सेहत विभाग के अनुसार डेंगू का डंक नवंबर तक जारी रहेगा। इस साल पुराने सारे रिकार्ड टूट सकते हैं। क्योंकि मरीजों का आना लगातार जारी है। वहीं दूसरी तरफ जिले में अब तक डेंगू पीड़ित 14 मरीजों की माैत हो चुकी है।

Vipin KumarPublish:Sat, 20 Nov 2021 09:52 AM (IST) Updated:Sat, 20 Nov 2021 09:52 AM (IST)
Dengue Cases in Ludhiana: शहर में थम नहीं रहा डेंगू का प्रकोप: पाश एरिया में 19 नए मरीज मिले
Dengue Cases in Ludhiana: शहर में थम नहीं रहा डेंगू का प्रकोप: पाश एरिया में 19 नए मरीज मिले

जागरण संवाददाता, लुधियाना। Dengue Cases in Ludhiana: जिले में डेंगू का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार को भी जिले में डेंगू के 19 नए मरीज मिले। सभी मरीज पाश एरिया के रहने वाले रहे। मरीज गुरपाल नगर, डा. शाम सिंह रोड, गोपाल नगर, हंबड़ा रोड, माडल टाउन एक्सटेंशन, सराभा नगर, किचलू नगर, गुरू हरगोबिंद नगर, न्यू संत सिंह नगर, उधम सिंह नगर और जोशी नगर के रहने वाले रहे। जिले में अब डेंगू मरीजों का आंकड़ा 1667 तक पहुंच गया है। जिसमें से अकेले लुधियाना सिटी से ही 1234 मरीज मिले चुके हैं। जबकि खन्ना से 76 और जगराओं से 70 मरीज मिले हैं। वहीं रूरल एरिया से केवल 287 डेंगू मरीज ही मिले हैं। आंकड़ों से स्पष्ट है कि शहर में डेंगू का प्रकोप अधिक हैं।

सेहत विभाग के अनुसार डेंगू का डंक नवंबर तक जारी रहेगा। इस साल पुराने सारे रिकार्ड टूट सकते हैं। क्योंकि मरीजों का आना लगातार जारी है। वहीं दूसरी तरफ जिले में अब तक डेंगू पीड़ित 14 मरीजों की माैत हो चुकी है। जिसमें से 12 मौतें डीएमसी अस्पताल में हुई हैं। जबकि एक मरीज की मौत मोहाली के निजी अस्पताल व एक मरीज की माैत सीएमसी अस्पताल में हुई है।

यह भी पढ़ें-Weather Forecast Ludhiana: लुधियाना में सुबह-सुबह 11 डिग्री के नीचे आया तापमान, AQI में सुधार

सोमवार को फिर से रिव्यू कमेटी की हाेगी मीटिंग

वहीं दूसरी तरफ वीरवार को चंडीगढ़ में रिव्यू कमेटी की मीटिंग हुई। जिसमें अक्तूबर के आखिरी सप्ताह से नवंबर के पहले सप्ताह के बीच हुई मौतों को लेकर रिव्यू किया गया, जिसमें चार मरीजों की मौत की वजह डेंगू बताई गई है। वहीं विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार को फिर से रिव्यू कमेटी की मीटिंग होनी है, जिसमें नवंबर के दूसरे सप्ताह में हुई मौतों रिव्यू होगा।

यह भी पढ़ें-कृषि कानून वापस होने से पंजाब की इंडस्ट्री को लगेंगे 'पंख', रिटेल कारोबार को मिलेगा प्रोत्साहन