Workshop In PAU: कम पानी खपत वाली धान से बचेगा भूजल, लुधियाना में कृषि माहिरों ने साझा किए सुझाव

पीएयू में आयोजित वर्कशाप को संबोधित करते हुए वीसी डा. बलदेव सिंह ढिल्लों। (जागरण)

Workshop In PAU पीएयू में आयाेजित वर्कशाप में खेतीबाड़ी विभाग के उप निर्देशक मुख्य खेतीबाड़ी अधिकारी खेती विकास अधिकारी कृषि विज्ञान केंद्रों और किसान सलाह सेवा केंद्रों के माहिरों के अलावा पीएयू के डीन डायरेक्टर व सहित 140 वैज्ञानिक शामिल हुए।

Vipin KumarFri, 26 Feb 2021 09:44 AM (IST)

लुधियाना, जेएनएन। Workshop In PAU: कोरोना महामारी के दौरान भी पंजाब ने खेती के क्षेत्र में सराहनीय विकास किया है। भोजन व पोषण के क्षेत्र में पीएयू के स्किल डेवलपमेंट सेंटर व फूड इंडस्ट्रर बिजनेस इंकुबेशन सेंटर ने बेहतर कार्य किया है। पंजाब कृषि विश्वविद्यालय (पीएयू) में वीरवार को निर्देशक प्रसार शिक्षा व खेतीबाड़ी व किसान भलाई विभाग की ओर से संयुक्त रूप से खोज व प्रसार माहिरों की वर्कशाप का आयोजन किया गया। इस दौरान कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन किया गया।

यह भी पढ़ें-लुधियाना में शादी का झांसा देकर तलाकशुदा महिला से एक साल तक दुष्कर्म, दाे युवकाें ने अश्लील वीडियो बना किया ब्लैकमेल

वर्कशाप में खेतीबाड़ी विभाग के उप निर्देशक, मुख्य खेतीबाड़ी अधिकारी, खेती विकास अधिकारी, कृषि विज्ञान केंद्रों और किसान सलाह सेवा केंद्रों के माहिरों के अलावा पीएयू के डीन, डायरेक्टर व सहित 140 वैज्ञानिक शामिल हुए। वर्कशाप की शुरूआत पीएयू के वीसी डा. बलदेव सिंह ढिल्लों ने की। वहीं खेतीबाड़ी विभाग के निर्देशक डा. सुखदेव सिद्धू ने धरती के नीचे पानी के गिरते स्तर पर चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा कि पूसा 44 के अंतर्गत रकबा घटाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कम पानी की खपत करने वाली धान की बिजाई समय की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी व खेतीबाड़ी विभाग पंजाब के संयुक्त प्रयासों के कारण ही बेहतर परिणाम सामने आ रहे हैं। इस मौके पर पीएयू के निर्देशक खोज डा. नवतेज बैंस ने नई किस्मों को लेकर जानकारी साझा की। उन्होंने कहा कि बासमती की नई किस्म पंजाब बासमती सात, गन्ने की नई किस्म सीओपीबी 95, सीआपीबी 96, सीओ 15023 और सीओपीबी 98 को राज्य किस्म प्रवाणगी कमेटी के समक्ष रखा जाएगा। इसके अलावा मक्की की किस्म पीएमएच 13 और मूंगी की किस्म एमएल 1808 को भी कमेटी के समक्ष रखा जाएगा। इस दौरान अपर निर्देशक संचार डा. तेजिंदर सिंह रियाड़ भी मौजूद रहे।

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.