काग्रेस किसानों के साथ, कानून वापस होने तक लड़ेगी लड़ाई : धालीवाल

काग्रेस किसानों के साथ, कानून वापस होने तक लड़ेगी लड़ाई : धालीवाल
Publish Date:Sat, 31 Oct 2020 08:56 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, फगवाड़ा : अखिल भारतीय काग्रेस अध्यक्षा सोनिया गाधी व प्रदेश काग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ के निर्देश पर फगवाड़ा काग्रेस ने विधायक बलविंदर सिंह धालीवाल (रिटायर्ड आइएएस) की अगुआई में शनिवार को नगर निगम परिसर में धरना देकर किसान के संघर्ष को अंजाम तक पहुंचाने का संकल्प लिया। धालीवाल व अन्य काग्रेस नेताओं ने सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती व इंदिरा गाधी को उनके बलिदान दिवस पर याद करते उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

विधायक धालीवाल ने कहा कि किसानों के साथ केंद्र की मोदी सरकार ने धक्केशाही करते कृषि सुधार कानून लागू किया है। आज वह संकल्प लेते है कि पंजाब काग्रेस हमेशा किसानों के साथ है तथा अंतिम दम तक कानून वापस होने तक लड़ाई लड़ेंगे तथा किसानों को उनका हक दिला कर रहेंगे। विधायक ने कहा कि किसानों के हित में स्टैंड लिए जाने के कारण ही केंद्र सरकार बदले की कार्रवाई कर ही है। पंजाब में रेल की आवाजाही रोकना, ग्रामीण फंड रोकना, पराली जलाने पर एक करोड़ जुर्माना तथा पांच साल की सजा मुकर्रर करना केंद्र सरकार के तुगलकी फरमान है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह इसी हफ्ते दिल्ली में राष्ट्रपति से मिलने जा रहे हैं। तथा केंद्र सरकार की नीतियों का खुल कर विरोध करेंगे तथा पंजाब सरकार का स्टैंड स्पष्ट करेंगे। केंद्र सरकार का यह निर्णय देश के फैडरल ढाचे को तहस नहस करने वाले है। हैरानी की बात है कि इसके लिए अवाज बुलंद करने वाले अकाली नेता भी चुप्पी साधे बैठे है। मोदी सरकार ने पहले किसानी ढाचे पर चोट की, अब देश के संघीय ढाचे पर चोट करने की कोशिश में है। मौके पर मार्केट कमेटी के चेयरमैन नरेश भारद्वाज, ब्लाक समिति के चेयरमैन गुरदयाल सिंह भुल्लाराई, ब्लाक काग्रेस अध्यक्ष संजीव बुग्गा ने संयुक्त तौर पर कहा कि किसानों को नुकसान पहुंचाने वाले हर कदम का विरोध करेंगे। मौके पर मार्केट कमेटी के उप चेयरमैन जगजीवन खलवाड़ा, जिला परिषद सदस्य निशा रानी व मीना कुमारी, जिला महिला काग्रेस अध्यक्षा सरजीवन लता, जिला यूथ काग्रेस अध्यक्ष सौरभ खुल्लर, सुमन शर्मा, पूर्व पार्षद, यूथ नेता, सभी विगों के पदाधिकारी, महिला काग्रेस के सभी पदाधिकारीयों के साथ गाव के सरपंच, व पंच उपस्थित थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.