Tokyo Olympics: 5 पंजाबी भारत की जीत के हीरो- सिमरनजीत, हार्दिक, हरमनप्रीत, रूपिंदर पाल और गुरजंट सिंह; ऐसे दागे गोल

India Wins Tokyo Olympics Hockey Bronze किसी भी जीत में पूरी टीम का हाथ रहता है लेकिन सेमीफाइनल में जर्मनी के खिलाफ भारत की जीत के हीरो बने हैं पांच पंजाबी। सिमरनजीत सिंह हार्दिक सिंह हरमनप्रीत सिंह रूपिंदर पाल सिंह और गुरजंट सिंह।

Pankaj DwivediThu, 05 Aug 2021 09:00 AM (IST)
जर्मनी के खिलाफ ओलिंपिक हॉकी सेमीफाइनल में सिमरनजीत, हार्दिक, हरमनप्रीत, रूपिंदर पाल और गुरजंट सिंह जीत के नायक बने हैं।

ऑनलाइन डेस्क, जालंधर। Tokyo Olympics 2020 India Wins Hockey Bronze टोक्यो ओलिंपिक में वीरवार सुबह भारत ने इतिहास रच दिया। जर्मनी के खिलाफ आखिरी वक्त तक दिल की धड़कने रोकने वाले सेमीफाइनल मैच में 41 साल बाद भारत ओलिंपिक्स में पदक पर कब्जा किया है। भारत ने जर्मनी को 5-4 से हराकर कांस्य पदक अपने नाम कर लिया। किसी भी जीत में पूरी टीम का हाथ रहता है लेकिन इस जीत के हीरो बने हैं पांच पंजाबी। सिमरनजीत सिंह, हार्दिक सिंह, हरमनप्रीत सिंह, रूपिंदर पाल सिंह और गुरजंट सिंह। जी हां इन्हीं खिलाड़ियों ने भारत की ओर से पांच गोल करके देश को एक बार फिर हॉकी के शिखर पर पहुंचाया है।   

1st गोल - फारवर्ड सिमरनजीत सिंह

पहले क्वार्टर में भारत 1-0 से पीछे चल रहा था। जर्मनी की हावी होने लगी थी। तभ  फार्वर्ड सिमरनजीत सिंह ने भारत के लिए पहला गोल दागकर टीम को बराबरी दिलवाई। मूलरूप से बटाला के रहने वाले सिमरजीत का परिवार अब उत्तर प्रदेश में रहता है।  

2nd गोल- जालंधर के हार्दिक सिंह ने किया शानदार गोल

भारत ने 1-1 की बराबरी कर ली थी लेकिन दूसरे क्वार्टर में जर्मनी ने अच्छा खेल दिखाना जारी रखा। विरोधी टीम ने एक के बाद एक गोल करके 3-1 की बढ़त बना ली। तभी भारत को पेनाल्टी कार्नर मिला। हरमनप्रीत ड्रैग फ्लिक किया लेकिन वह चूक गए। तभी गेंद डिफ्लेक्ट होकर हार्दिक के पास पहुंची और उन्होंने उसे गोल में बदल दिया। हार्दिक पंजाब के जालंधर के रहने वाले हैं। 

3rd Goal: हरमनप्रीत सिंह ने पेनाल्टी कॉर्नर को गोल में बदला

दो मिनट बाद ही हरमनप्रीत सिंह ने पेनाल्टी कॉर्नर को गोल में बदलकर भारत को 3-3 की बराबरी ला खड़ा किया। हरमनप्रीत सिंह अमृतसर के जंडियाला गुरु के छोटे से गांव तीमोवाल के रहने वाले हैं। 

4rth Goal: रूपिंदर पाल सिंह-पेनाल्टी स्ट्रोक को गोल में बदला

तीसरे क्वार्टर में भारत ने शुरुआत से शानदार खेल दिखाया और इसी के बदौलत टीम को पेनाल्टी स्ट्रोक मिला। पंजाब के फरीदकोट के रहने वाले रूपिंदर पाल सिंह ने इसे गोल में बदलने से नहीं चूके। अब भारत ने पहली बार बढ़त बना ली थी। भारत 4 और जर्मनी 3। 

5th Goal: गुरजंट सिंह- शानदार फील्ड गोल करवाया

तीसरे क्वार्टर में ही रूपिंदर पाल सिंह के गोल के कुछ देर बाद ही भारत ने फिर जर्मनी पर हमला किया। अमृतसर के गुरजंट ड्रिबल करते हुए विरोधी खेम में दाखिल हो गए। उनके पास पर गोल के आगे खड़े सिमरनजीत सिंह ने पांचवा गोल दाग दिया।  

यह भी पढ़ें - Tokyo Olympics 2020: भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने जर्मनी को हराया, पंजाब में जश्न का माहौल, कैप्टन ने दी बधाई

यह भी पढ़ें - यह है पंजाब की हाकी नर्सरी, 93 सालों से तैयार हो रही प्रतिभाओं की पौध, 14 ओलंपियन देने वाले गांव में सूखने लगी खेल की 'फसल''

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.