खूनी गैंगवार में बदल सकती है अपराध की दुनिया में वर्चस्व की लड़ाई

जालंधर में गैंगस्टर्स फिर से सिर उठाने लगे हैं।
Publish Date:Mon, 28 Sep 2020 05:45 AM (IST) Author:

जालंधर [सुक्रांत]। शहर में अपराध की दुनिया में वर्चस्व बनाने के लिए शुरू हुई लड़ाई किसी भी वक्त खूनी गैंगवार का रूप ले सकती है। कई साल पहले भी कई बदमाश खुद को बड़ा गैंगस्टर साबित करने के लिए दूसरे गैंग के सदस्यों को उठा कर अपने ठिकानों पर ले जाकर मारपीट करते थे। मारपीट की वीडियो बना कर वायरल करते थे, ताकि उनकी दहशत ज्यादा फैल सके। इस लड़ाई में कई ऐसे युवाओं की जान चली गई थी जो खुद को गैंगस्टर साबित करना चाहते थे। अब यही वारदातें दोबारा होने लगी हैं।

हाल ही में फतेह गैंग और नोनी गैंग के बीच शुरू हुई लड़ाई और मारपीट करने के बाद वीडियो वायरल करने का मामला भी खुद को बड़ा गैंगस्टर साबित करने वाला ही है। फतेह और नोनी गैंग पहले भी लड़ाई झगड़ा करते रहे हैं और कई मामलों में नामजद हैं। नोनी गैंग ने फतेह और उसकी साथी अमना को उठा कर पीटा और उनकी वीडियो बना कर वायरल ली। बदला लेने के लिए फतेह ने नोनी गैंग के एक युवक को उठाया और उसे पीटते हुए वीडियो बना कर वायरल कर दी। इसके बाद फतेह और उसके साथियों ने बीच सड़क एक और युवक को उठाया और उसे तलवारें मार कर घायल कर दिया। इसकी भी वीडियो बनाई और वायरल कर दी।

हालांकि पुलिस के मुताबिक जिस युवक को फतेह गैंग ने पहले पीटा और वीडियो बनाई वो तो नोनी गैंग का था, लेकिन जिस युवक को बीच सड़क पीटा उसका किसी गैंग से संबंध नहीं था।

कई मौतों के बाद ही खत्म हुई थी दहशत

सात-आठ साल पहले शहर में कई गैंगस्टर खड़े हुए थे। इनकी दहशत इतनी हो गई थी कि लोग उनके नाम से ही डरने लगे थे। इनमें से कई गैंगस्टर मारे गए और कुछ जेल में हैं। कई ऐसे लोगों की जान भी गई थी जो गैंगस्टरों के साथ ही रहते थे। इनमें प्रिंस, सिमरन, दीपांश आदि हैं। कपूरथला रोड स्थित एक कॉलेज से शुरू हुई गैंगस्टरों की कहानी काफी देर तक चली थी। इनमें सुक्खा काहलवां, दलजीत भाना, लवली बाबा, गौंडर, प्रेमा लाहौरिया जैसे गैंगस्टरों के नाम शामिल हैं।

सुक्खा काहलवां ने उस समय दहशत फैलाने के लिए गैंगस्टर रॉकी को पीट कर उसकी वीडियो वायरल की थी। इसके बाद सुक्खा काहलवां जिसको भी मारता था, उसकी वीडियो बनाता था। सुक्खा काहलवां के साथ गौंडर, भाना, प्रेमा शामिल थे। इसमें कई युवकों की जान भी गई। बाद में गौंडर और प्रेमा ने अपने साथियों के मिल कर पुलिस कस्टडी में ही सुक्खा का मर्डर कर दिया था। गौंडर और प्रेमा पुलिस एनकाउंटर में मारे गए थे। दलजीत सिंह भाना इस वक्त जेल में है।

नोनी और फतेह की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने कई शहरों में की छापामारी

गैंगस्टर नोनी और फतेह की गिरफ्तारी के लिए जालंधर पुलिस ने कई शहरों में छापामारी की, लेकिन न तो वो पकड़े गए और न ही उनके साथी हाथ में आए। थाना डिवीजन नंबर दो और थाना बस्ती बावा खेल की पुलिस की टीमें बना कर कई शहरों में भेजी हैं। थाना बस्ती बावा खेल के प्रभारी अनिल कुमार और थाना डिवीजन नंबर दो के प्रभारी सुखदेव सिंह ने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किए जा रहे हैं और जल्द ही उनको गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

बीते दिनों थाना डिवीजन नंबर दो की पुलिस ने गैंगस्टर अमनदीप अमना और फतेह उर्फ ज्ञानी सहित आधा दर्जन अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। वहीं थाना बस्ती बावा खेल की पुलिस ने गैंगस्टर गौरव शर्मा उर्फ नोनी, तेगवीर सिंह उर्फ तेगा, तोता, पारस अरोड़ा, सूरज घोटना, चट्ठू सहित दो अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

शहर में गैंगवार व गैंगस्टरों को रोकने के लिए पुलिस हरसंभव प्रयास कर रही है। शहर का माहौल किसी भी हाल में खराब नहीं होने दिया जाएगा। जिन लोगों ने एक-दूसरे को पीटकर वीडियो बनाई है, उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

-गुरमीत सिंह, डीसीपी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.