तरनतारन में पीर शेखफत्ता की दरगाह से लौट रहे बुजुर्ग की लाठी मारकर हत्या, आरोपित गिरफ्तार

महेश कुमार (71) कई वर्षों जालंधर के गांव मोहारू माझी (टाहली साहिब) में रहता था। वह अपने दामाद लोरिक माझी के साथ पीर शेखफत्ता की दरगाह पर वीरवार को माथा टेकने गया। लौटते समय कहासुनी होने पर आरोपित सरबजीत ने उसके सिर पर लाठी मार दी थी।

Pankaj DwivediFri, 24 Sep 2021 02:57 PM (IST)
जालंधर के गांव मोहारू माझी (टाहली साहिब) में रहने वाले महेश की तरनतारन में हत्या कर दी गई। सांकेतिक चित्र।

संस, तरनतारन। पीर शेखफत्ता की दरगाह से लंगर खाकर वापस लौट रहे जालंधर के गांव मोहारू माझी निवासी महेश कुमार की लाठी मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने इस बाबत गांव तख्तूचक्क निवासी सरबजीत सिंह के खिलाफ मामला दर्ज करके उसे गिरफ्तार कर लिया है। थाना सदर के प्रभारी इंस्पेक्टर मनोज कुमार ने बताया कि लोरिक माझी के बयान पर आरोपित सरबजीत सिंह के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

उत्तर प्रदेश के जिला चंदौली में आते गांव बीरना निवासी महेश कुमार (71) कई वर्षों जालंधर के गांव मोहारू माझी (टाहली साहिब) में रहता था। वह अपने दामाद लोरिक माझी के साथ पीर शेखफत्ता की दरगाह पर वीरवार को माथा टेकने गया। दरगाह से लंगर छकने के बाद वापस आते समय सड़क पर जा रहे थे कि बाइक पर सवार सरबजीत सिंह निवासी गांव तख्तूचक्क से कहासुनी हो गई। सरबजीत ने लाठी से महेश कुमार पर वार कर दिया। माथे पर लाठी लगते ही वह सड़क पर गिर पड़ा। दामाद लोरिक माझी उसे अपने घर ले गया। रात को महेश कुमार ने थोड़ी दर्द महसूस की। सुबह पांच बजे उसकी मौत हो गई।

यह भी पढ़ें - ब्याज पर लिए पैसे वापस लौटाने के बावजूद बाप-बेटे ने चलाई गोलियां

संस, तरनतारन : गांव चंबल निवासी मनप्रीत सिंह ने अपने पिता रणजीत सिंह से मिलकर वीरवार को अपने ही गांव के सविंदर सिंह के परिवार पर गोलियां चलाई। गोलियां लगने से सविंदर सिंह, उसका छुट्टी पर आया सैनिक बेटा नसीब सिंह, बेटी कुलविंदर कौर, भतीजी राजबीर कौर घायल हो गए। थाना सरहाली की पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

विधान सभा हलका पट्टी के गांव चंबल निवासी सविंदर सिंह ने बताया कि उसने अपने ही गांव के रणजीत सिंह के बेटे मनप्रीत सिंह से वर्ष 2017 में 3.26 लाख की राशि ब्याज पर ली थी। डेढ वर्ष पहले सविंदर सिंह ने उक्त राशि ब्याज समेत वापस लौटा दी। परंतु मनप्रीत सिंह यह कहते ओर पैसे मांगता था कि उसको पूरी रकम नहीं मिली। करीब दस दिन पहले सविंदर सिंह का सैनिक बेटा नसीब सिंह छुट्टी पर आया था। सविंदर सिंह अपने परिवार के साथ घर में बैठा था कि मनप्रीत सिंह ने आवाज देकर बाहर बुलाया। सविंदर सिंह जब गली में गया तो आरोपित ने गाली-गलौज शुरू करते अपने पिता रणजीत सिंह को भी बुला लिया। गालियों का शोर सुनकर सविंदर सिंह के परिवार के सदस्य भी गली में चले गए।

आरोपित मनप्रीत सिंह ने अपने पिता रणजीत सिंह के इशारे पर पिस्टल से गोलियां चलाना शुरू कर दी। गोलियां लगने से सविंदर सिंह, उसका सैनिक बेटा नसीब सिंह, बेटी कुलविंदर कौर, भतीजी राजबीर कौर की टांगों पर एक-एक गोली लगी। घटना की जानकारी मिलते ही थाना सरहाली के प्रभारी हरशा सिंह संधू मौके पर पहुंचे और घायलों को अस्पताल में दाखिल करवाया गया। सविंदर सिंह के ब्यान दर्ज करके पुलिस ने आरोपित मनप्रीत सिंह और उसके पिता रणजीत सिंह के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.