सूर्या एन्क्लेव सोसायटी ने खुद ही विकसित कर रही कॉलोनी का पार्क, इंप्रूवमेंट ट्रस्ट से नहीं मिला फंड

कॉलोनी में कई पार्क हैं और इनकी डेवलपमेंट के लिए फंड नहीं मिल रहा है। (फाइल फोटो)
Publish Date:Sun, 27 Sep 2020 09:42 AM (IST) Author: Vikas_Kumar

जालंधर, जेएनएन। सूर्या एन्क्लेव वेलफेयर सोसायटी ने कॉलोनी के सोमला पार्क को खुद ही विकसित करने का काम शुरू किया है। कॉलोनी में कई पार्क हैं और इनकी डेवलपमेंट के लिए सरकार और इंप्रूवमेंट ट्रस्ट से फंड नहीं मिल रहा है।

सूर्या एन्क्लेव इलाके में श्मशानघाट की दीवार के साथ लगते लगभग 100 मरला जमीन में बने पार्क की हालत 15 सालों से खराब है। पार्क में 10 फुट तक ऊंची घास है। सरकार से फंड न मिलने के कारण अब सोसायटी सदस्यों व इलाके के दानी सज्जनों के सहयोग से पिछले एक महीने से साफ सफाई अभियान चलाया जा रहा था। इस कार्य में सोसायटी के ग्रीन अंबेस्डर रोशन लाल शर्मा, सोसायटी प्रधान ओम दत्त शर्मा, सिपाही लाल कश्यप, पर्यावरण प्रेमी कमल शर्मा, पंडित कुलदीप शर्मा, रमेश वोहरा, एस.के पूरी, समीर गुप्ता, विद्या सागर, सतीश सोल, दिनेश सैनी, अजित सिंह, व राजीव धमीजा भूमिका निभा रहे हैं।

सूर्या एन्क्लेव एक्सटेंशन सोसायटी छह अक्टूबर को देगी धरना

सूर्या एन्क्लेव एक्सटेंशन वेलफेयर सोसायटी छह अक्टूबर को इंप्रूवमेंट ट्रस्ट ऑफिस के सामने धरना देगी। सूर्या एन्क्लेव एक्सटेंशन में विकास कार्यों की मांग को लेकर सोसायटी पहले भी धरना दे चुकी है। सोसायटी के प्रधान एमएल सहगल ने कहा कि करीब 10 साल से सूर्य एनक्लेव एक्सटेंशन में मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल रही हैं। उन्होंने कहा कि सीवरेज, पानी, सड़कों, स्ट्रीट लाइट, पार्क सभी बहुत खराब हालत में है। सहगल ने कहा कि इंप्रूवमेंट ट्रस्ट लोगों को सुविधाएं नहीं दे पा रहा है और यहां तक कि भुगतान करने के बावजूद कई लोगों को प्लाट के कब्जे नहीं मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि 6 अक्टूबर को धरने के लिए जिला प्रशासन से मंजूरी ली जाएगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.