हड़ताल ने बढ़ाई परेशानी, 300 फार्म नहीं हो पा रहा सत्यापित

डीसी आफिस में चल रही मुलाजिमों की हड़ताल से लोगों की परेशानी बढ़ गई है।

JagranPublish:Mon, 29 Nov 2021 07:51 PM (IST) Updated:Mon, 29 Nov 2021 07:51 PM (IST)
हड़ताल ने बढ़ाई परेशानी, 300 फार्म नहीं हो पा रहा सत्यापित
हड़ताल ने बढ़ाई परेशानी, 300 फार्म नहीं हो पा रहा सत्यापित

जागरण संवाददाता, जालंधर

डीसी आफिस में चल रही मुलाजिमों की हड़ताल से लोगों की परेशानी बढ़ती जा रही। हड़ताल में तहसीलदारों से लेकर सब-रजिस्ट्रार तथा रेवेन्यू विभाग के भी सभी अधिकारी व मुलाजिम शामिल हैं। इस कारण अभी तीन सौ फार्म सत्यापित नहीं हो सके हैं। उधर, पंजाब रेवेन्यू आफिसर्स एसोसिएशन द्वारा एक दिसंबर तक सामूहिक छुट्टी पर चले जाने के बाद लोगों की प्रापर्टी की रजिस्ट्री भी अब इसके बाद ही हो सकेगी। इससे प्रापर्टी की रजिस्ट्री करवाने वालों में वसीका नवीस से लेकर टाइपराइटर तथा नंबरदार से लेकर तमाम तरह के लोगों की हालत खराब हो गई है।

दरअसल, 22 नवंबर को होशियारपुर के माहिलपुल में तहसीलदार संदीप कुमार को विजिलेंस ने रेड करके उनपर मामला दर्ज करने के साथ ही रेवेन्यू मुलाजिमों से भी पूछताछ की थी। इसे लेकर राज्य भर के तहसीलदार, सब-रजिस्ट्रार सहित रेवेन्यू विभाग के अधिकारी व मुलाजिम हड़ताल पर चल रहे हैं। रेवेन्यू आफिसर्स एसोसिएशन ने 29 नवंबर से एक दिसंबर तक सामूहिक छुट्टी पर रहने का फैसला लिया हुआ है। उधर, विभिन्न कार्यो के लिए सरकारी कागजात सत्यापित करवाने होते हैं। इसके लिए सुविधा सेंटर व निजी स्तर पर तहसीलदार से यह कागजात सत्यापित करवाने के लिए लोग आते हैं। इन दिनों हड़ताल के चलते तीन सौ के करीब कागजात सत्यापित नहीं सके हैं। इससे लोग रोजाना तहसीलदार आफिस में चक्कर लगाने को विवश हो चुके हैं।

डीसी आफिस मुलाजिम यूनियन ने भी दिया है समर्थन

रेवेन्यू अधिकारी व मुलाजिमों को डीसी आफिस मुलाजिम यूनियन ने भी समर्थन दिया हुआ है। इस कारण डीसी आफिस में काम करवाने के लिए आने वाले लोगों को भी भारी परेशानी हो रही है। पेंशन संबंधी काम करवाने आए धीना गांव के जगरूप सिंह बताते हैं कि रेवेन्यू अधिकारी व मुलाजिम तो एक दिसंबर की सामूहिक हड़ताल पर हैं, लेकिन डीसी आफिस के मुलाजिमों की हड़ताल कब तक रहेगी, इसकी किसी को कोई जानकारी नहीं है। अप्वाइंटमेंट लेने से कतरा रहे लोग

रेवेन्यू अधिकारियों द्वारा एक दिसंबर तक हड़ताल पर रहने के फैसले के बाद भी अगर उनकी मांगें पूरी न हुई तो हड़ताल की अवधि आगे बढ़ाई जा सकती है। ऐसे में प्रापर्टी की रजिस्ट्री का काम बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है। उधर, हड़ताल बढ़ने की आशंका के चलते लोग प्रापर्टी की रजिस्ट्री की अप्वाइंटमेंट लेने से कतराने लगे हैं। यही कारण है कि पिछले तीन-चार दिनों से अप्वाइंटमेंट का स्लाट खाली पड़ा है। रूटीन में यहां पर रोजाना 100 से अधिक की अप्वाइंटमेंट ली जाती है।