RCF कपूरथला में हो रहे विशेष कोच तैयार, ट्रेनों को आग से बचाएगा नया आटोमेटिक सिस्टम

आरसीएफ कपूरथला में एलएचबी एयर कंडिशन्ड कोचों में अग्नि सुरक्षा में सुधार व हीटिंग व्यवस्था के लिए रिवर्स साइकिल सुविधा के साथ रुफ माउंटेड एसी पैकेज यूनिट लगना शुरू हो गया है। यह कोच आग लगने जैसी घटनाओं से बचाएंगे।

Kamlesh BhattSun, 25 Jul 2021 11:37 AM (IST)
आग से बचाव के लिए आरसीएफ कपूरथला में तैयार किए जा रहे विशेष कोच। जागरण

जागरण संवाददाता, कपूरथला। भारतीय रेलवे ने ट्रेनों में किसी भी तरह की आग की दुर्घटनाओं से यात्रियों को सुरक्षित रखने के लिए कुछ नए सुरक्षा उपायों को अपनाया है। इसके मद्देनजर रेल डिब्बों में आटोमेटिक धुआं पहचान प्रणाली लगाने के साथ-साथ इलेक्टिकल फिटिंग और फिक्स्चर जैसे एमसीबी, लाइट फिटिंग, टर्मिनल बोर्ड, कनेक्टर इत्यादि के लिए ओर भी बेहतर सामग्री का उपयोग किया जा रहा है।

कोच की साज सज्जा में भी अब अग्निरोधी सामग्री का उपयोग किया जा रहा है। यात्रियों की सुरक्षा के लिए अब डिब्बों में आग बुझाने वाले यंत्र लगाए गए हैं। रेल कोच फैक्ट्री, कपूरथला ने अब एलएचबी एयर कंडिशन्ड कोचों में अग्नि सुरक्षा में सुधार व हीटिंग व्यवस्था के लिए रिवर्स साइकिल सुविधा के साथ रुफ माउंटेड एसी पैकेज यूनिट लगाना शुरू कर दिया है।

वर्तमान में कोचों की छत में लगाए जा रहे इन रुफ माउंटेड एसी पैकेज यूनिट में सर्दियों के समय हीटिंग के उद्देश्य से रेजिस्टेंस-आधारित हीटिंग काइल का प्रावधान किया गया है। रिवर्स साइकिल फीचर के साथ इस प्रणाली में इस किसी भी हीटिंग तत्व की आवश्यकता नहीं होती है और उसी रेफ्रिजरेंट सर्किट का उपयोग सर्दियों के मौसम में रिवर्स मोड में कोच के अंदर हीटिंग के लिए किया जा सकता है।

आरसीएफ ने 31 जनवरी 1992 को छत पर लगे रुफ माउंटेड एसी पैकेज यूनिट के साथ पहले एसी कोच का निर्माण किया था। रुफ माउंटेड पैकेज यूनिट एयर कंडिशन्ड कोचों के अंदर आरामदायक तापमान और नमी बनाए रखता है। अन्य एयर कंडीशनर की तुलना में इस के कई फायदे हैं। ये रखरखाव और कोच में स्थापित करने के लिए बेहद अनुकूल हैं। इस एयर कंडीशनर को स्टेनलेस स्टील ग्रेड 304 से बनाया गया है जो इसे विषम और अनियमित मौसम से बचाता है। रूफ माउंटेड एयर कंडिशन्ड पैकेज यूनिट की क्षमता सात टन और ताप क्षमता छह किलोवाट की है।

हर रेल डिब्बे की छत के दोनों छोर पर दो एयर कंडिशन्ड पैकेज यूनिट लगाए जाते हैं। वर्तमान में पांच कोचों में यह सुविधा प्रदान की जा रही है और इसके प्रदर्शन की फीडबैक प्राप्त होने के बाद आने वाले समय में निर्माण किए जाने वाले डिब्बों में लगाया लाएगा। बताते चलें कि कोरोना काल में भी आरसीफ में कोच उत्पादन का कार्य जोरों पर है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.