जालंधर में बस्ती पीरदाद विवाद तीन हफ्ते बाद भी नहीं सुलझा, तीन वीडियो भी हो चुकी हैं वायरल, अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं

विवाद में घायल हुए थे पार्षद व उनका बेटा। (फाइल फोटो)

बस्ती पीरदादा में तीन हफ्ते पहले पानी का कनेक्शन लगाने को लेकर हुआ विवाद अभी तक सुलझ नहीं पाया है। मामले की तीन वीडियो भी पुलिस के हाथ लग चुकी हैं। इस मामले में अभी तक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है।

Publish Date:Sat, 28 Nov 2020 10:38 AM (IST) Author: Vinay Kumar

जालंधर, जेएनएन। बस्ती पीरदाद में एक निर्माणाधीन कोठी में पानी का कनेक्शन लगाने को लेकर हुआ विवाद तीन हफ्तों बाद भी सुलझाया नहीं जा सका। पुलिस ने दोनों पक्षों के बयान भी दर्ज कर लिए थे और दोनों तरफ के पांच पांच लोगों के खिलाफ मामला भी दर्ज कर लिया लेकिन अभी तक दोनों पक्षों में किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। इस मामले में पुलिस के हाथ वायरल हुई तीन वीडियो लग चुकी हैं। पार्षद पर हमले की वीडियो बिलकुल साफ आई थी और उसके बेटे की पिस्तौल छीन कर ले जाने की वीडियो भी आई थी। वहीं दूसरे पक्ष ने पार्षद पुत्र पर गोली चलाने और जातिसूचक शब्द कहने का आरोप लगाया था। एक पक्ष की तरफ से आए शिरोमणी अकाली दल के उप प्रधान चंदन ग्रेवाल, भगवान वाल्मीकि उत्सव कमेटी के प्रधान विपन सभ्र‌वाल, भाजपा नेता दीपक तेलू ने भी धरने की चेतावनी भी दी थी।

इस मामले में पुलिस ने एक पक्ष के सन्नी, डैनी, गौतम, जोगा सिंह सहित कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। वहीं दूसरे पक्ष के वार्ड नंबर 76 के पार्षद लखबीर सिंह बाजवा, राहुल बाजवा, शिबू, राकेश कुमार और बंटी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। थाना प्रभारी अनिल कुमार का कहना था कि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। जल्द ही उनको गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वीरवार रात को सिविल अस्पताल में दाखिल पार्षद लखबीर सिंह बाजवा ने बताया कि उनके रिश्तेदार की कोठी बस्ती पीरदाद में बन रही है। उन्होंने बताया कि कोठी में पानी का कनेक्शन लग रहा था तो पास ही रहने वाले कुछ लोग कनेक्शन नहीं लेने दे रहे थे। वह और उनका बेटा राहुल बाजवा उनसे बात करने के लिए गए।

इस दौरान उक्त लोग विवाद करने लगे और विरोध करने पर दातर मार कर उनको घायल कर दिया। उनका बेटा बचाने के लिए आगे आया तो उस पर हमला कर दिया और उसकी लाइसेंसी रिवाल्वर छीन कर हवाई फायर कर दिए। उधर घायल सनी कुमार ने बताया कि पार्षद लखबीर सिंह बाजवा और उनके पुत्र राहुल बाजवा उनके मोहल्ले से पानी का कनेक्शन दूसरी कालोनी के लोगों को दे रहे थे। उन्होंने इस बात का विरोध किया तो दोनों ने उसके साथ हाथापाई कर दी। लोग बचाने के लिए आए तो राहुल बाजवा ने अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से गोलियां चला दी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.