दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

पंजाब में भाखड़ा में बहते मिले रेमडेसिविर और सैफोप्रोजोन वायल के तार यूपी से जुड़े

रूपनगर के चमकौर साहिब के निकट सलेमपुर की भाखड़ा नहर में बरामद रेमडेसिविर और सैफोप्रोजोन वायल। जागरण

पंजाब में भाखड़ा नहर में रेमडेसिविर और सैफोप्रोजोन वायल भाखड़ा में बहते मिले थे। मामले में पुलिस जांच कर रही है। जांच में इसके तार यूपी से जुड़ रहे हैं। हालांकि अभी पुलिस यह नहीं बता रही कि आरोपित यूपी के किस जिले का है।

Kamlesh BhattSun, 09 May 2021 09:02 AM (IST)

जेएनएन, रूपनगर। छह मई को पंजाब की रूपनगर पुलिस द्वारा भाखड़ा नहर में बहते मिली रेमडेसिविर इंजेक्शन व एंटी बायोटिक ड्रग की वायल की खेप के तार उत्तर प्रदेश से जुड़ गए हैं। एसआइटी की जांच में सामने आया है कि एंटी बायोटिक ड्रग सैफोप्रोजोन की वायल पर मार्केटिंग कंपनी नोटविन फार्मास्यूटिकल मलोया, चंडीगढ़ का पता है। इस मार्केटिंग कंपनी को चलाने वाला व्यक्ति उत्तर प्रदेश का रहने वाला है। अब इस पते पर कोई नहीं रहता।

फिलहाल पुलिस यह नहीं बता रही है यह व्यक्ति उत्तर प्रदेश के किस जिले का रहने वाला है। पता यह भी चला है कि मार्केटिंग कंपनी चलाने वाले व्यक्ति की तलाश में एसआइटी उत्तर प्रदेश गई है। दूसरी तरफ मकान मालिक का कहना है कि एक माह पहले इस कंपनी का नुमाइंदा दफ्तर छोड़ चुका है। कुछ समय पहले हरियाणा की पुलिस एक एफआइआर के संबंध में भी यहां छापा मार चुकी है।

यह भी पढ़ें:  हरियाणा में टेस्ट कराने वाला हर चौथा व्यक्ति कोरोना संक्रमित, 14667 नए मरीज मिले, 155 की मौत

जांच टीम ने वायल के पीछे लिखे मिले हिमाचल के काला अंब के गांव मोगीनंद अप्पर में स्थित सनवेत फार्मा प्राइवेट लिमिटेड के उत्पादन यूनिट पर भी दबिश दी। यहां से पुलिस को कुछ साक्ष्य मिले हैं। एसएसपी डॉ.  अखिल चौधरी के मुताबिक मामला बेहद गंभीर होने की वजह से पांच सदस्यीय विशेष जांच दल को जांच सौंपी गई है। जांच में ड्रग कंट्रोल विभाग को भी शामिल को किया गया है। उन्होंने बताया कि जिला स्वास्थ्य विभाग ने सैंपल जांच के लिए फारेंसिक साइंस लेबोरेटरी मोहाली भेजे गए हैं। जांच के बाद ही वायल में मिली दवा की असली या नकली होने का पता चलेगा।

यह भी पढ़ें: कोरोना हाटस्पाट बना लुधियाना व मोहाली, पंजाब में पहली बार एक दिन में मिले 9100 संक्रमित

बता दें, पंजाब में भाखड़ा की सलेमपुर झील से 293 रेमडेसिविर और 112 सैफोपेराजोन की वायल बरामद हुए थे।  दुगरी झील से अधिक संख्या में वायल बरामद हुई थी। इन्हें गिनने के बजाय स्वास्थ्य विभाग की टीम प्लास्टिक की बोरियों में भरकर इन्हें गाड़ियों में ले गया। रूपनगर के सलेमपुर गांव के भाग सिंह इटली नामक व्यक्ति ने ये इंजेक्शन बहते हुए भाखड़ा नहर में देखे। फिर गांव के सरपंच व गण्यमान्य लोगों को इसके बारे में सूचना दी।

यह भी पढ़ें: हरियाणा में 6,000 कैदियों की रिहाई की तैयारी, घर-घर जाकर कोरोना मरीजों को तलाशेंगी 8,000 टीमें

यह भी पढ़ें: नवजोत सिंह सिद्धू फिर हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह पर आक्रामक, सीएम का वीडियो शेयर कर साधा निशाना

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.