पंजाबी सिंगर Karan Aujala और Harjit Harman को महिला आयोग ने किया तलब, शराब से महिला की तुलना पर कंट्रोवर्सी

चंडीगढ़ के पंडितराव धरनेश्वर ने करण औजला और हरजीत हरमन के शराब टाइटल के गाने में महिला की तुलना शराब और हथियार से करने के विरोध में पंजाब एवं चंडीगढ़ हाई कोर्ट में याचिका दायर की है। अब वे मामले को लेकर महिला आयोग के पास पहुंचे हैं।

Pankaj DwivediThu, 16 Sep 2021 04:23 PM (IST)
पंजाब गायक करन औजला और हरजीत हरमन।

जागरण संवाददाता, जालंधर। गाने में महिला की तुलना शराब और बंदूक से करने के मामले में पंजाबी गायक करण औजला और हरजीत हरमन मुश्किल में फंसते दिख रहे हैं। हाल में शराब टाइटल से गाए गए गीत को लेकर चंडीगढ़ के व्यक्ति की शिकायत पर पंजाब महिला आयोग ने उन्हें रिकार्ड कंपनी के मालिक के साथ उसके समक्ष पेश करने के आदेश दिए हैं। महिला आयोग की चेयरपरसन मनीषा गुलाटी ने जालंधर के पुलिस कमिश्नर डा. सुखचैन सिंह गिल और एसएसपी पटियाला को निर्देश जारी किए हैं कि वह अगली सुनवाई में इन दोनों गायकों और स्पीड रिकॉर्ड कंपनी के मालिक को महिला आयोग के सामने पेश करें। इसे लेकर शिकायत चंडीगढ़ के पंडितराव धरनेश्वर ने की थी।

पंडितराव धरनेश्वर ने बताया कि करण औजला और हरजीत हरमन के इस गाने में महिला की तुलना हथियार, शराब और अन्य नशे से की गई है। उन्होंने गाने पर रोक लगाने के लिए पंजाब एवं चंडीगढ़ हाई कोर्ट में याचिका भी दायर की थी। उन्होंने गायक हरजीत हरमन के नाभा स्थित घर पर धरना देते हुए उनसे मांग की थी कि वह पंजाबी सभ्याचार को उजाड़ने वाले इस गीत का हिस्सा न बनें। बावजूद इसके हरमन ने करण औजला के साथ मिलकर यह गाना गाया था। इसके बाद उन्होंने शिकायत पंजाब महिला आयोग से की। पंजाब महिला आयोग ने पुलिस कमिश्नर जालंधर और एसएसपी पटियाला को निर्देश जारी करते हुए यह कहा है कि 22 सितंबर को दोपहर 12:00 बजे होने वाली अगली सुनवाई में स्पीड रिकॉर्ड कंपनी के मालिक के साथ गायक करण औजला और हरजीत हरमन को पेश किया जाए। 

महिलाओं को अपमानित करता है गीतः आयोग

पंजाब महिला आयोग की चेयरपरसन मनीषा गुलाटी ने मामले का संज्ञान लेते हुए तीनों को व्यक्तिगत सुनवाई के लिए बुलाया है। उन्होंने पुलिस कमिश्नर और एसएसपी को भेजे निर्देश में कहा है कि स्पीड रिकॉर्ड कंपनी ने करण औजला और हरजीत हरमन के साथ शराब टाइटल से एक गीत रिलीज किया है। इसमें औरत की तुलना शराब और बंदूक से की गई है। यह गीत महिलाओं को अपमानित करता है।

यह भी पढ़ें - विवाद में घिरे जालंधर के MP Santokh Chaudhary, जूते पहन ज्योति जलाने पर शिवसेना की FIR दर्ज करने की मांग

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.