पंजाब में बसों और ट्रेनों में रश से कोरोना बेलगाम, मास्क लगाने तक को लेकर दिख रही भारी लापरवाही

जालंधर के अंतरराज्यीय बस स्टैंड पर कोरोना वायरस को लेकर लापरवाह यात्री एक साथ बैठे हुए।

पंजाब में बसों और ट्रेनों में शारीरिक दूरी का नियम लागू नहीं किया जा रहा है। किसी यात्री को मास्क लगाना जरूरी नहीं बताया जा रहा है। सैनिटाइजर तो मानो अब गुजरे जमाने की बात हो चुकी है। बसों और ट्रेनों में कोरोना गाइडलाइंस का पालन नहीं किया जा रहा।

Pankaj DwivediMon, 12 Apr 2021 05:13 PM (IST)

जालंधर [मनुपाल शर्मा]। पंजाब में बसों और ट्रेनों में बरती जा रही घोर लापरवाही कोरोना वायरस संक्रमण को बेलगाम कर रही है। बसों और ट्रेनों में शारीरिक दूरी का नियम लागू नहीं किया जा रहा है। किसी यात्री को मास्क लगाना जरूरी नहीं बताया जा रहा है। सैनिटाइजर तो मानो अब गुजरे जमाने की बात हो चुकी है। पंजाब से ट्रेनें बेहद सीमित संख्या में संचालित की जा रही हैं और सरकारी बसों में महिला यात्रियों की यात्रा ही निःशुल्क कर दी गई है। इन दोनों ही कारणों के चलते ट्रेनों और बसों में यात्रियों का भारी रश उमड़ रहा है।

रोडवेज स्टाफ खुद लापरवाह

बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाने के लिए सरकार की तरफ से जरूरी बताई जा रही सावधानियों को अमल में नहीं लाया जा रहा है। पंजाब रोडवेज की तरफ से भी निर्देश जारी किए गए थे कि बिना मास्क किसी भी यात्रा को बस में सफर ना करने दिया जाए। सच्चाई यह है कि रोडवेज का स्टाफ खुद ही लापरवाही करता नजर आ रहा है। अंदाजा लगाया जा सकता है कि जब सरकारी परिवहन सेवाओं का यह हाल है तो निजी बस परिवहन पर तो कोई नजर रखी ही नहीं जा रही है।

पंजाब रोडवेज के डिप्टी डायरेक्टर परनीत सिंह मिन्हास ने कहा कि सरकार की तरफ से जारी की जा चुकी गाइडलाइंस को सौ फीसद लागू करवाने के निर्देश दिए जा चुके हैं। बावजूद अगर कोई लापरवाही बरती जा रही है तो फिर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि समस्त 18 डिपो के अधिकारियों को दिशा निर्देश पर से जारी किए जाएंगे की कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए बसों में सफर के दौरान पूर्ण सावधानी अमल में लाई जाए।

यह भी पढ़ें - नवजोत सिंह सिद्धू को कांग्रेस ने दिया बड़ा झटका, पंजाब में पार्टी संगठन में भी नहीं होगी एंट्री

यह भी पढ़ें - फतेहगढ़ साहिब में सायरन बजने से एक्सिस बैंक का एटीएम लुटने से बचा, मशीन में था 8 लाख रुपये कैश

यह भी पढ़ें - मंत्री बलवीर सिद्धू के करीबी प्रिंस को मिली पंजाब की सबसे अमीर मंडी गोबिंदगढ़ कौंसिल की कमान

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.