पंजाब में एक ही दिन में कोरोना से 84 लोगों की मौत, अमृतसर में 12 और लुधियाना में 10 ने तोड़ा दम

पंजाब में कोरोना संक्रमण से तेजी से बढ़ रहा मौतों का आंकड़ा। सांकेतिक फोटो

पंजाब में कोरोना का ग्राफ जिस तेजी से बढ़ रहा है वह चिंता का विषय है। राज्यों में मौतों का आंकड़ा भी लगातर बढ़ रहा है। गत दिवस सोमवार को कोरोना संक्रमण के कारण एक ही दिन में 84 लोगों की मौत हो गई।

Kamlesh BhattTue, 20 Apr 2021 09:44 AM (IST)

जेएनएन, जालंधर/चंडीगढ़। कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते ग्राफ के बीच गत दिवस इस साल एक ही दिन में कोरोना से रिकार्ड 84 मौतें हुईं। पंजाब में कोरोना से मरने वालों की संख्या 7985 हो गई है। वहीं संक्रमण के 4653 नए केस सामने आए, जबकि 3418 लोगों ने कोरोना को मात भी दी। राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 35311 हो गई है। इनमें से 463 को आक्सीजन और 43 को वेंटीलेटर सपोर्ट पर रखा गया है। सेहत विभाग की ओर से 80523 लोगों को टीका भी लगाया गया।

सेहत विभाग के अनुसार सोमवार को अमृतसर में सबसे ज्यादा 12, लुधियाना में 10, संगरूर में आठ, बठिंडा व पटियाला में सात-सात, जालंधर व तरनतारन में छह-छह, रूपनगर, एसएएस नगर (मोहाली) व गुरदासपुर में पांच-पांच, कपूरथला में तीन, फरीदकोट, होशियारपुर, मानसा व पठानकोट में दो-दो और फाजिल्का व फिरोजपुर में एक-एक कोरोना मरीज की मौत हुई।

मोहाली में 792, लुधियाना में 758, जालंधर में 380, अमृतसर में 342, पटियाला में 304, बठिंडा में 221, गुरदासपुर में 198, होशियारपुर में 178, पठानकोट में 175, मुक्तसर में 174, तरनतारन में 165, फरीदकोट में 153, कपूरथला में 137, संगरूर में 126 और मानसा में 125 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैैं।

वैक्सीन सप्लाई पर कैप्टन ने जताई ङ्क्षचता, केंद्र से मांगे दो नए आक्सीजन प्लांट

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कोरोना की रोकथाम के लिए वैक्सीन और आक्सीजन के घट रहे भंडार पर ङ्क्षचता जाहिर करते हुए केंद्र सरकार को वैक्सीन की सप्लाई तुरंत भेजने व पंजाब में दो नए आक्सीजन प्लांट को तत्काल मंजूरी देने की अपील की है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने सभी विभागों को निर्देश दिए कि योग्य लोगों के ज्यादा से ज्यादा टीकाकरण के लिए हर संभव प्रयास किए जाएं। उन्होंने बड़े उद्योगों को अपने-अपने कर्मचारियों के टीकाकरण का जिम्मा उठाने के निर्देश भी दिए।

राज्य में वैक्सीन की उपलब्धता के संबंध में मुख्य सचिव विनी महाजन ने मुख्यमंत्री को बताया कि स्थिति नाजुक है और सिर्फ तीन दिन का स्टाक बचा है। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार ने भरोसा दिया है कि वैक्सीन का और स्टाक जल्दी ही भेजा जा रहा है।

सेहत शिक्षा मंत्री ओपी सोनी ने अमृतसर अस्पताल में आक्सीजन की सप्लाई की कमी का जिक्र किया। जबकि मुख्य सचिव ने कहा कि चाहे इंडियन आयल लिमिटेड राज्य को सप्लाई मुहैया करवा रहा है परंतु स्थिति ङ्क्षचताजनक है। उन्होंने बताया कि सरकारी व निजी अस्पतालों में मांग और सप्लाई पर नजर रखी जा रही है। स्थिति की निगरानी करने और केंद्र सरकार के साथ तालमेल करने के लिए राज्य सरकार ने उद्योग विभाग के प्रमुख सचिव का नेतृत्व अधीन कमेटी का गठन किया है।

सेहत विभाग के सचिव हुसन लाल ने बताया कि कोरोना की पिछली लहर आने के बाद से तीन आक्सीजन प्लांट कार्यशील हो चुके हैं और अमृतसर व पटियाला के मेडिकल कालेजों में दो प्लांटों के लिए केंद्र की मंजूरी का इंतजार किया जा रहा है। चाहे इस समय पर आक्सीजन की कमी है परंतु जरूरत की पूर्ति करने के लिए एक जिले से दूसरे जिले को सप्लाई की जा रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.