Vegetable Price Hike : जालंधर में शादियों के सीजन में 100 रुपये किलो बिक रहा है मटर, टमाटर भी हुआ लाल

सब्जी कारोबारियों ने की मानें तो अगले कुछ दिनों तक सब्जियों के रेट में कोई कमी नहीं आएगी। लोकल सब्जियों की आमद में देरी होने के कारण दूसरे राज्यों से सब्जियां मंगवाई जा रही है। दिसंबर के प्रथम सप्ताह में लोगों को कुछ राहत मिल सकती है।

Vinay KumarWed, 24 Nov 2021 02:26 PM (IST)
सब्जियों पर महंगाई की मार ने लोगों की कमर तोड़कर रख दी है।

जागरण संवाददाता, जालंधर। वेडिंग सीजन इन दिनों पूरे यौवन पर है। नवंबर तथा दिसंबर के अधिकतर दिन विवाह शादियों के साथ-साथ शुभ कार्य के लिए बेहतर बताए जाते हैं। इस बीच सब्जियों पर महंगाई की मार ने लोगों की कमर तोड़ दी है। इस कारण शादियों का बजट तो बड़ा ही है, साथ ही घरेलू उपभोक्ता महंगी सब्जियों के कारण रसोई का बजट कंट्रोल नहीं कर पा रहा है। सीजन के हरे मटर के दाम 100 रुपए प्रति किलो से कम नहीं हो रहे तो वहीं दूसरी तरफ टमाटर के दाम भी 80 रुपए प्रति किलो चल रहे हैं। यहीं स्थिति शिमला मिर्च, घीया तथा भिंडी सहित अन्य सब्जियों का भी है।

कारोबारियों की मानें तो आने वाले कुछ दिनों तक सब्जियों के दामों की स्थिति यथावत बनी रहेगी। लिहाजा दिसंबर के प्रथम सप्ताह में लोकल सब्जी की आमद के बाद कुछ राहत मिल सकती है। दरअसल, फेस्टिवल सीजन बीतने के बाद भी टमाटर, धनिया व प्याज से लेकर सब्जियों के दाम कम नहीं हुए हैं। बल्कि वेडिंग सीजन में मांग बढ़ने के बाद इनके दामों में और भी इजाफा हो गया है। जिसका शिकार जनता हो रही है। हालांकि इसके लिए लोकल सब्जियों की आमद में देरी तथा इस कारण आपूर्ति के लिए दूसरे राज्यों से सब्जी मंगवाई जाने के कारण दामों में इजाफा बताया जा रहा है।

पहाड़ी क्षेत्रों से हो रही सब्जियों की आपूर्ति

लोकल सब्जियों की फसल प्रभावित होने तथा तैयार होने में देरी के चलते पहाड़ी क्षेत्रों से सब्जियां मंगवा कर लोकल मंडी में आपूर्ति की जा रही है। इस कारण पड़ने वाले परिवहन खर्चे तथा अन्य संसाधनों का खर्च भी सब्जी के दामों पर पड़ रहा है। जिसके चलते दामों में लगातार इजाफा हो रहा है।

क्या कहते हैं व्यापारी

इस बारे में मकसूदां सब्जी मंडी के थोक सब्जी कारोबारी जसपाल सिंह बताते हैं कि लोकल सब्जियों की आमद दिसंबर के प्रथम सप्ताह से शुरू होगी। तब तक लोगों को महंगाई की मार झेलनी होगी। उन्होंने कहा कि दिसंबर में सीजन की सब्जियां रूटीन में आनी शुरू हो जाएंगी।

सब्जियों के दामों का आंकड़ा

टमाटर : 80 रु

मटर : 100 रु

शिमला मिर्च : 80 रु

घीया : 60 रु

भिंडी : 80 रु

आलू नया : 30 से 40

फलियां : 80 रु

ये भी पढ़ेंः दिल्ली के डिप्टी सीएम सिसाेदिया बाेले - पंजाब में आप की सरकार बनने पर आएगा नया इंडस्ट्रियल रिवॉल्यूशन

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.