top menutop menutop menu

सावधान! हवेली के बाद अब जोमैटो के नाम पर फ्री थाली की ठगी

मनीष शर्मा, जालंधर

जीटी रोड पर फगवाड़ा के नजदीक हवेली के नाम पर ठगी उजागर हो गई तो ऑनलाइन ठगों ने जोमैटो के नाम पर ठगी की फ्री थाली शुरू कर दी है। तरीका भी वही है, फेसबुक पर विज्ञापन चलाया जा रहा है। जिसमें हवेली वाली फ्री थाली के ऑफर वाली फोटो ही इस्तेमाल की जा रही है। खास बात यह है कि डिलीवरी अब हवेली अमृतसर से बताई जा रही है। यहां तक कि गूगल पर भी उन्होंने हवेली अमृतसर का फर्जी मैप बना दिया है ताकि ऑर्डर करने वाले को यकीन दिलाया जा सके। इस बार थाली का रेट भी 250 कर दिया है और बुकिग चार्ज 10 रुपये मांगा जा रहा है। जिसके लिए लिक भेजा जा रहा है ताकि उसकी आड़ में एटीएम यानि डेबिट या क्रेडिट कार्ड की डिटेल्स चोरी कर बैंक खाते से पैसा उड़ा सकें। कई लोग फेसबुक पर थाली का रेट पूछ रहे हैं लेकिन दैनिक जागरण के पूरे प्रकरण को उजागर करने के बाद कई लोगों ने इसके फर्जी होने के बारे में दूसरों को सतर्क भी कर रहे हैं। - न नाम पूछा न पता, बस बुकिग चार्ज पर जोर

फेसबुक पर पैसे देकर यानि स्पांसर्ड विज्ञापन चलाने वाले ठगों से बात करते वक्त लोग सावधानी बरतें तो वो खुद ही ठगी का हिट दे देते हैं। जोमैटो के नाम पर थाली के लिए दिए नंबर 62065-84113 पर हमने संपर्क किया तो उसने कहा कि रात 10 बजे तक वह सर्विस देते हैं। खाना हवेली अमृतसर से आएगा। 250 रुपये की थाली है और एक के साथ दो फ्री हैं। उससे जब कहा गया कि खाना कितनी देर में मिलेगा तो ठग ने 35 से 40 मिनट में थाली पहुंचाने की बात कही। मजे की बात यह है कि थाली किसे और कहां डिलीवरी करनी है, उसने न पूछा और न ही उसे बताया गया था। उसने कहा कि समय कम है, इसलिए समय पर डिलीवरी चाहिए तो दस रुपये बुकिग चार्जेस जमा कर दो। बाकी 240 रुपये डिलीवरी ब्वाय को दे देना। फिर उसने लिक भेजने की बात कही। - फ्रॉड पर बोला, हमें नहीं पकड़ सकते

जब उसे कहा गया कि आजकल फ्रॉड हो रहा है, ऐसा ही विज्ञापन हवेली जालंधर का भी आया था, जिसे सब लोग फ्रॉड बता रहे हैं तो ठग बोला कि ऐसा नहीं है, कुछ लोगों की वजह से उनका नाम खराब हो रहा है। वो सब काम सही करते हैं, उनके धंधे में कुछ भी फ्रॉड नहीं है। फ्रॉड करने वाले हमें बर्बाद कर रहे हैं। जब उसे कहा कि ऐसे फ्रॉड करते हो, पुलिस पकड़ लेगी तो वो बोला कि हमें कोई नहीं पकड़ सकता। - एप के जरिए खाना देता है जोमैटो

जोमैटो एप की बात करें तो इसके जरिए मोबाइल एप से ऑर्डर होता है। जिसमें कंपनी ने ऑनलाइन पूरी पेमेंट या फिर कैश ऑन डिलीवरी का विकल्प दिया है। कंपनी की तरफ से बुकिग चार्जेस नहीं लिए जाते। इसके अलावा उसमें रजिस्ट्रेशन के वक्त नाम व पता गूगल लोकेशन के साथ फीड हो जाता है। ऐसे में जाहिर है कि यह सिर्फ ठगी का गोरखधंधा कर लोगों के बैंक खाते साफ करने की कोशिश की जा रही है।

--

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.