top menutop menutop menu

पांच माह से वेतन नहीं मिलने पर जेसीबी ऑपरेटरों की हड़ताल, शहर से आधा कूड़ा ही उठा

जागरण संवाददाता, जालंधर : जेसीबी ऑपरेटरो को पिछले पांच माह से वेतन नहीं मिला है। इसके चलते वीरवार को शहर में कूड़े की लिफ्टिंग प्रभावित रही। दरअसल ठेके पर काम करने वाले मुजाजिमों ने वर्कशॉप से जेसीबी मशीनें बाहर ही नहीं निकालीं। इसके चलते कई डंपों से कूड़ा नहीं उठ पाया। हालांकि निगम और ठेकेदार की प्राइवेट गाड़ियों ने कूड़ा उठाने का काम जारी रखा, लेकिन मुश्किल से आधा कूड़ा ही उठ पाया। निगम की 31 गाड़ियों ने 55 चक्कर लगा कर 149 टन कूड़ा और प्राइवेट गाड़ियों ने 34 टन कूड़ा उठाया।

पिछले एक माह के दौरान कई बार काम प्रभावित हो चुका है। निगम की ड्राइवर एंड टेक्निकल वर्कर यूनियन ने भी अपनी मांगों को लेकर निगम कमिश्नर को 10 जून से हड़ताल का अल्टीमेटम दे रखा है। इन मांगों पर निगम की हेल्थ एंड सैनिटेशन कमेटी की कई मीटिगें भी हो चुकी हैं, लेकिन अभी तक हड़ताल रुकने पर सहमति नहीं बनी है। वहीं पूर्व विधायक केडी भंडारी ने भी प्रताप बाग के डंप को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है, वहीं नगर निगम और नॉर्थ हलके में हालात बिगड़ रहे हैं। लोगों की सेहत को लेकर प्रशासन गंभीरता नहीं दिखा रहा। प्रताप बाग के डंप पर कूड़ा सड़क पर आ गया है, जिससे क्षेत्र निवासियों की सेहत से खिलवाड़ हो रहा है। भंडारी ने निगम कमिश्नर से मांग की कि जल्द से जल्द इस डंप की सफाई करवाई जाए।

एफएंडसीसी में मंजूर होंगे ट्रैकटर-ट्रालियों के टेंडर, सफाई व्यवस्था में आएगा सुधार

नगर निगम की फाइनांस एंड कांट्रैक्ट कमेटी की आठ जून को प्रस्तावित मीटिग में शहर के चारों हलकों से कूड़ा उठाने के लिए ट्रैक्टर-ट्रॉलियों के टेंडर को मंजूरी मिलेगी। करीब दो करोड़ रुपये के चार टेंडरों के तहत 24 ट्रैक्टर-ट्रालियां हायर की जानी हैं। इनका पुराना टेंडर डेढ़ महीना पहले खत्म हो चुका है, तभी से सफाई व्यवस्था चरमराई हुई है। पंजाब सकरार के चीफ इंजीनियर ने चारों टेंडरों को मंजूरी दे दी है। अब फाइनांस कमेटी की मंजूरी के बाद वर्क ऑर्डर जारी होगा। ये ट्रैक्टर-ट्रालियां शहर से कूड़ा उठाने के साथ-साथ सड़कों और फुटपाथों के किनारे जमा होने वाली मिट्टी व गंदगी भी उठाती है। इसके टेंडर लगने से पार्षदों को भी राहत मिलेगी, क्योंकि दो या तीन वार्ड में एक ट्रैक्टर-ट्राली की तैनाती होगी। एफएंडसीसी मीटिंग में 14 सड़कों के लिए 2.50 करोड़ के टेंडर को भी मंजूरी दी जाएगी। इनमें लद्देवाली, गणेश नगर-अशोक नगर, गांधी कैंप, गुरु नानक नगर वार्ड नंबर 78, गुरु हरकृष्ण नगर, बानियां मोहल्ला, लम्मा पिड, सईपुर रोड, संगत सिंह नगर, बलवंत नगर, वार्ड नंबर 53 में देवराज स्कूल के पास की सड़कें शामिल हैं। इसके अलावा जेटिग मशीनों की नोजल खरीदने का टेंडर पास किया जाना है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.