नवजोत सिंह सिद्धू ने चन्नी सरकार की घोषणाओं पर उठाए सवाल, कहा- वादे 500 कर दिए, पूरे दो नहीं हुए

नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बार फिर अपनी ही चरणजीत सिंह चन्नी सरकार को निशाने पर लिया। सिद्धू ने कहा कि वादे तो 500 हो चुके हैं लेकिन काम दो पर भी नहीं हुआ है। सिद्धू ने पंजाब की आर्थिक हालत का मुद्दा फिर उठाया।

Kamlesh BhattFri, 19 Nov 2021 05:03 PM (IST)
चरणजीत सिंह चन्नी व नवजोत सिंह सिद्धू की फाइल फोटो।

हरनेक सिंह जैनपुरी, सुल्तानपुर लोधी (कपूरथला)। पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बार फिर न सिर्फ माफिये को निशाने पर लिया, बल्कि चन्नी सरकार द्वारा की जा रही घोषणाओं पर भी सवाल उठाया। नानक की नगरी में नतमस्तक होने आए सिद्धू ने कहा कि या माफिया ज्यादा रख लो या फिर पंजाब को जिंदा रख लो। माफिया को खत्म किए बना पंजाब नहीं बचेगा।

बिना किसी का नाम लिए नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि 500 वादे कर दिए और पूरे दो भी नहीं हुए। अगर पंजाब को जीवित रखना है तो पंजाब के खजाने के लिए 25 से 40 हजार करोड़ की आमदनी पैदा करनी होगी। सिद्धू ने कहा कि बाबे नानक के फलसफा से ही पंजाब कर्जे के इस दलदल से बाहर निकलेगा। बाबे का फलसफा ही पंजाब को दोबारा प्रगति व समृद्धि की राह की ओर लेकर जाएगा।

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि बाबे नानक के तेरा-तेरा वाले संदेश को बच्चे-बच्चे तक लेकर जाना होगा, लेकिन हो क्या रहा है कि राजनीति धंधा बन चुकी है। हर बंदा कहता मेरा-मेरा। पंजाब में अवसरों की कमी कारण हमारे बच्चें विदेशों की तरफ भाग रहे है। अगर बच्चों को अवसर प्रदान नहीं करेंगे तो वह इधर-उधर जाएंगे, लेकिन इस ट्रेंड को हमें बदलना होगा।

सिद्धू ने कहा हम बाबे को तो मानते हैं, लेकिन बाबे की कही गई बातों को नहीं मानते। धर्म कहां बांटता है। वह तो कहता है कि मानस की जात सभी एको पहिचानबो। बाबे नानक का फसलफा सरबत का भला है। सिद्धू ने कहा कि लोगों के टैकस की ताकत एक प्रतिशत लोगों के पास है। पंजाब के कुदरती संसाधन, हमारे खनिज, हमारी रेत, एक्साइज, केबल और जमीनें आदि इसके टैक्स खजाने में आने चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा। आज 99 फीसद लोग वंचित हैं। इन लोगों के पास जब टैक्सों की ताकत दोगुना चार गुना होकर जाएगी तो उस दिन मानेंगे कि पंजाब का भला हुआ है। सिद्धू ने कहा कि झूठ पर, स्वांग पर, लालीपाप बांटने से पंजाब नहीं बचना। पंजाब को एक रोडमैप की जरूरत है। यह रोड मैप पंजाबियों का होगा। सिद्धू ने कहा कि बाबे नानक की तरह जो कहेगा तेरा-तेरा वह तरेगा और जो मेरी बसें, मेरे ढाबे, मेरा बिजनेस कहेगा, वह सियासी तौर पर मरेगा। 

सिद्दू ने कहा कि वह अरदास करने यहां आए हैं कि रब्ब उन्हें सरकार में खड़ा होकर भ्रष्टाचार के बारे में बोलने का बल बख्शें। अपने से ज्यादा सृष्टि के बारे सोचने, अपने से ज्यादा लोगों के बारे सोचने वाला किरदार कायम रख सकें। सिद्धू ने कहा कि मेरा एक ही मानना है कि बाबा नानक के फलसफे से ही पंजाब का उत्थान होगा, लेकिन सिर्फ मानकर नहीं, बलकि उस राह पर चलकर। बाबे की राह हमारी राह। मेरे अकेले की नही, हम सभी की राह होनी चाहिए।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.