Jalandhar में इन 6 कारणों से बढ़ा Coronavirus संक्रमण, लापरवाही जारी रही तो दोबारा बंद हो सकते हैं स्कूल-कॉलेज

जालंधर में कोरोना संक्रमण के मामले फिर से बढ़ने लगे हैं।

जालंधर में पिछले एक सप्ताह से कोरोना की गिरफ्त में आने वाले मरीजों के आंकड़ों का ग्राफ तेजी से बढ़ने लगा है। मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद जिला व पुलिस प्रशासन दोबारा सक्रिय होने लगा है। लेकिन लोग लापरवाही बरतने ने अभी भी बाज नहीं आ रहे।

Vikas_KumarSun, 28 Feb 2021 02:55 PM (IST)

जालंधर, जेएनएन। मास्क न लगाने, दो मीटर की दूरी तथा बार बार हाथ धोने के नियमों को दरकिनार करना लोगों को मंहगा पड़ने लगा है। साथ ही समारोहों में भाग लेने वालों तथा बाजारों में बढ़ रही भीड़ पर कोरोना भारी पड़ने लगा है। यहीं नही रेल गाड़ियों और बसों में भी सवारियां ठूस-ठूस कर भर ले जाना भी कोरोना संक्रमण को दावत देने जैसा है।

यह भी पढ़ेंः पंजाब के होशियारपुर में खौफनाक वारदात, पति ने ससुराल पहुंच तेजधार हथियार से पत्नी को मार डाला

नए साल की शुरूआत के साथ कोरोना शांत होने लगा और लोगों की लापरवाही बढ़ने लगी थी। कोरोना को लेकर नीतियों को सख्ती से लागू करने में जिला प्रशासन व पुलिस की ठंडी पड़ने लग गईं। नतीजतन पिछले एक सप्ताह से कोरोना की गिरफ्त में आने वाले मरीजों के आंकड़ों का ग्राफ तेजी से बढ़ने लगा है। मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद जिला व पुलिस प्रशासन दोबारा सक्रिय होने लगा है। हालांकि नीतियों को सख्ती से लागू करवाने को लेकर प्रयास महज कागजी दिखाई दे रहे है।

यह भी पढ़ेंः पंजाब में सरकारी प्री प्राइमरी स्कूलों में बने माडल क्लासरूम, खेल-खेल में पढ़ाई कर रहे बच्चे

काेराेना फैलने के कारण

-सार्वजनिक जगहों पर शारीरिक दूरी के नियम को भूल गए।

-लोगों ने मास्क पहनना छोड़ दिया। हाेटलाें में पार्टी करनी शुरु कर दी।

-कोरोना के लक्षण होने पर टेस्ट करवाना छोड़ दिया।

-कोरोना मामलों के बढ़ने के पीछे की वजह लोगों की तरफ से दिखाई जा रही लापरवाही

-बाजाराें में भीड़ जुटने में नियमाें का पालन नहीं किया।

-दिसंबर-जनवरी में जब मामले एकाएक कम हुए तो लोगों ने समझ लिया कि कोरोना खत्म हाे गया।

कोरोना से कैसे करें बचाव

- मास्क अवश्य पहने।

- हाथ हमेशा साफ रखें।

- निश्चित अंतराल पर हाथ साबुन से अच्छी तरह धोएं।

- एल्कोहल युक्त सैनिटाइजर से हाथ साफ करते रहें।  

- छींकते और खांसते वक्त मुंह और नाक को टीशू से ढंक लें, इसके बाद टीशू को बंद डस्टबिन में फेंक दें।

- जिन्हें सर्दी-जुकाम और फ्लू हैं, उनसे दूर रहें।

- सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

- सरकार के आदेशों का पालन करें।

यह भी पढ़ेंः 'परीक्षा पे चर्चा' के जरिए प्रधानमंत्री से आनलाइन जुड़ेंगे पंजाब के 52 भागीदार, पूछेंगे सवाल

क्या हैं लक्षण कोरोना के मुख्य लक्षण ?

- बुखार

- सूखी खांसी,

- सांस लेने में तकलीफ.

- कुछ मरीजों में नाक बहना,

- गले में खराश,

- नाक बंद होना

- डायरिया

शनिवार को 18 विद्यार्थियों सहित 70 पाजिटिव

शनिवार को कोरोना संक्रमण स्कूलों के विद्यार्थियों तथा शिक्षकों पर भारी पड़ा। कोरोना ने 18 विद्यार्थियों व तीन शिक्षकों सहित 70 लोगों को गिरफ्त में लिया। हालांकि शनिवार को किसी मरीज की मौत नही हुई। वहीं 49 मरीज कोरोना से जंग जीत कर घरों को लौटे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.