Jalandhar Weather Forecast : जालंधर में 14 डिग्री गिरा तापमान, आज भी राहत के संकेत

Jalandhar Weather Forecast वीरवार सुबह व फिर देर रात से शुरू हुई बारिश शुक्रवार को सुबह तक निरंतर जारी रही। जिसके चलते 24 घंटे में 14 डिग्री सेल्सियस तापमान गिर गया। शुक्रवार सुबह अधिकतम तापमान 24 डिग्री दर्ज किया गया।

Vikas_KumarFri, 04 Jun 2021 07:10 AM (IST)
मौसम विभाग द्वारा आज दिन भर राहत के संकेत दिए गए हैं।

जालंधर, जेएनएन। Jalandhar Weather Forecast : बुधवार रात के बाद वीरवार सुबह व फिर देर रात से शुरू हुई बारिश शुक्रवार को सुबह तक निरंतर जारी रही। जिसके चलते 24 घंटे में 14 डिग्री सेल्सियस तापमान गिर गया। शुक्रवार सुबह अधिकतम तापमान 24 डिग्री दर्ज किया गया, जबकि 24 घंटे पहले अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस चल रहा था। इसी तरह मौसम विभाग द्वारा आज दिन भर राहत के संकेत दिए गए हैं।

दरअसल बीते सप्ताह वीरवार को सीजन का सबसे गर्म दिन रहा था। इस दौरान अधिकतम तापमान 42 तथा न्यूनतम 27 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसके 2 दिन बाद ही शनिवार रात को चली तेज आंधी तथा बारिश ने मौसम का मिजाज बदल दिया। इसके बाद से लेकर तापमान में गिरावट का सिलसिला जारी है। इसी तरह वीरवार सुबह व रात को चली तेज आंधी तथा बारिश ने मौसम सुहावना बना दिया है।

बताया जा रहा है कि मौसम के बदले मिजाज का असर आज दिन भर रहेगा। इस बारे में मौसम विशेषज्ञ डॉक्टर विनीत शर्मा बताते हैं कि पहाड़ी इलाकों में हो रही बारिश का असर मैदानी इलाकों पर पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि आने वाले 24 घंटे तक मौसम यथावत रहने की संभावना प्रबल है।

आंधी की वजह से बिजली के 14 पोल एवं पांच ट्रांसफार्मर खराब,

शहर में बुधवार की देर शाम चली आंधी की वजह से बिजली के 14 पोल एवं पांच ट्रांसफार्मर खराब हुए। इस वजह से शहर के कई हिस्सों में बिजली की सप्लाई प्रभावित रही। आंधी से रामामंडी के एकता नगर इलाके में 200 केवीए ट्रांसफार्मर खराब हुआ। इस वजह से लगभग 100 घरों की बिजली सप्लाई प्रभावित हुई। इसके अलावा लद्देवाली के बड़े क्षेत्र, चौगिट्टी, पुडा कांप्लेक्स, औद्योगिक क्षेत्र एवं शहर के अन्य हिस्सों में भी बिजली सप्लाई आंधी की वजह से प्रभावित रही। बिजली लाइनों के साथ लगे पेड़ की शाखाएं गिरने स ज्यादा नुकसान हुआ। इससे जालंधर में पावरकाम को 4.38 लाख का नुकसान होने का अनुमान लगाया गया है।

शहर में 100 स्थानों पर होता है जलभराव

शहर में करीब 100 ऐसी जगह है, जहां हर साल बरसात में जलभराव होता है। शहर में कई जगह बरसाती सीवर डालने का काम चल रहा है, लेकिन बरसात से पहले काम पूरा होने की उम्मीद कम है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.