दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Jalandhar Fruits-Vegetables New Rate List: जालंधर में मंडी बोर्ड ने निर्धारित किए फल-सब्जियों के दाम, यह रही नई रेट लिस्ट

जालंधर मंडी बोर्ड ने फल तथा सब्जियों के दाम निर्धारित किए हैं।

Jalandhar Vegetables Fruit Rate List जालंधर प्रशासन द्वारा रोजाना फल तथा सब्जियों के दाम निर्धारित किए जाते थे। इस बार मंडी बोर्ड ने यह पहल की है। जिसके तहत फल तथा सब्जियों के क्वालिटी के मुताबिक रिटेल में बिक्री करने के धाम निर्धारित कर दिए हैं।

Vikas_KumarMon, 10 May 2021 11:25 AM (IST)

जालंधर, जेएनएन। पिछले वर्ष कोरोना काल के दौरान जिला प्रशासन द्वारा रोजाना फल तथा सब्जियों के दाम निर्धारित किए जाते थे। इस बार मंडी बोर्ड ने यह पहल की है। जिसके तहत फल तथा सब्जियों के क्वालिटी के मुताबिक रिटेल में बिक्री करने के धाम निर्धारित कर दिए हैं। इसके साथ ही अतिरिक्त वसूली करने वाले दुकानदारों के खिलाफ जिला मंडी अधिकारी मुकेश पहले का मोबाइल नंबर भी सार्वजनिक किया गया है।

10 मई को निर्धारित किए गए फल तथा सब्जियों के रेट प्रति किलो

- मटर 70 से 90 रु

- गोभी 15 से 25 रु

- गाजर 15 से 20 रु

- टमाटर 10 से 15 रु

- बैंगन 10 से 20 रु

- भिंडी 25 से 40 रु

- खीरा 10 से 15 रु

- बंद गोभी 10 से 15

- मूली 15 से 20

-  अदरक 50 से 70

-लहसुन 40 से 60

- प्याज 25 से 40

- बींस 30 से 40

- शिमला मिर्च 10 से 15

- हरी मिर्च 15 से 20

-  घिया लोकी 10 से 15

- हलवा 10 से 15

- करेला 20 से 40

- नींबू 55 से 70

फलों के रेट

- केला 36 से ‌50 रु दर्जन

- तरबूज 5 से 10 रू

- पपीता 10 से 25 रु

- आम 20 से 50 रु

-  खरबूजा 10 से 20 रु

 - यहां करें शिकायत

जिला मंडी अधिकारी मुकेश कैले

फोन नंबर : +919463639586

-------------------------------------------

यह भी पढ़ेंः वीकेंड लाकडाउन में बसों में कम रही यात्रियों की संख्या

जालंधर। वीकेंड लाकडाउन के दूसरे दिन रविवार को यात्रियों की संख्या में भारी गिरावट आने के चलते बेहद कम संख्या में बसें संचालित की जा सकीं। जालंधर शहर के अधिकतर निजी बस आपरेटरों की तरफ से बस संचालन से परहेज ही किया गया। बाहरी जिलों के कुछ निजी आपरेटरों की बसें संचालित होती रही। पंजाब रोडवेज जालंधर एक के जनरल मैनेजर नवराज बातिश ने बताया कि पहले ही इंटर स्टेट रूट बंद किए जा चुके हैं। मौजूदा समय में सरकारी गाइडलाइंस के मुताबिक 50 फीसद क्षमता के साथ ही बसों का संचालन किया जा रहा है, लेकिन यात्रियों की संख्या 50 फीसद भी नहीं हो पा रही है। यात्रियों की बेहद कम संख्या को देखते हुए रूट भी कम ही संचालित हो पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सोमवार को बस संचालन में वृद्धि होने के आसार हैं।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

 

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.