Jalandhar Weather Alert: सुबह और दोपहर के तापमान में आधे से ज्यादा का अंतर, अगले सप्ताह से और बढ़ेगी ठंड

जालंधर में तापमान में गिरावट के चलते सुबह और रात को ठंड बढ़ने लगी है। दिन में धूप निकलने की वजह से तापमान में उछाल दर्ज किया जा रहा है। वहीं पश्चिमी विक्षोभ के चलते सुबह और रात में गिरावट का सिलसिला अगले सप्ताह जारी रहेगा।

Pankaj DwivediWed, 17 Nov 2021 08:46 AM (IST)
बुधवार को सुबह ठंड की वजह से लोग गर्म कपड़े पहन कर सैर को निकले। पुरानी फोटो।

जागरण संवाददाता, जालंधर। नवंबर का महीना आधे से ज्यादा गुजर चुका है और तापमान में बदलाव का सिलसिला तेज होने लगा है। बुधवार को सुबह ठंड की वजह से लोग गर्म कपड़े पहन कर सैर को निकले। ठंड के चलते सुबह जगजीवन की रफ्तार भी कम हो जाती है। यह सिलसिला सप्ताह के अंत तक जारी रहेगा। इस दौरान अधिकतम तापमान में 25 डिग्री सेल्सियस का आंकड़ा छू जाएगा। हालांकि तड़के तथा रात के समय तापमान में गिरावट का सिलसिला भी बरकरार रहेगा न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाएगा। मौसम विभाग की मानें तो आने वाले 24 घंटे के दौरान तड़के तथा देर रात न्यूनतम तापमान लुढ़ककर 9 डिग्री सेल्सियस तक रह जाएगा।

तापमान में गिरावट के चलते सुबह और रात को ठंड बढ़ने लगी है। दिन में धूप निकलने की वजह से तापमान में उछाल दर्ज किया जा रहा है। वहीं, पश्चिमी विक्षोभ के चलते सुबह और रात में गिरावट का सिलसिला अगले सप्ताह जारी रहेगा। अगले सप्ताह आसमान में बादल छाए रहने के साथ बूंदाबांदी होने के भी आसार हैं। इससे ठंड बढ़ जाएगी। 

सुबह और दोपहर के तापमान में आधे से अधिक का अंतर

पिछले सप्ताह से तड़के तथा दोपहर के तापमान में आधे से भी अधिक का अंतर आ चुका है। जिसके चलते दोपहर के समय तो लोग गर्मी महसूस करेंगे तो वहीं देर रात तथा तड़के ठिठुरन भी बढ़ जाएगी। इससे चेहरे पर मंडरा रहा डेंगू का खतरा भी टलने के पूरे आसार हैं। हालांकि बच्चों और बुजुर्गों पर सर्दी खांसी और बुखार का खतरा मंडरा रहा है।

मौसम विशेषज्ञ डा. विनीत शर्मा बताते हैं कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण दोपहर तथा देर रात के बीच के तापमान में आधे से भी अधिक का अंतर आ चुका है। पहाड़ी इलाकों में हवा का दबाव तथा बदलते मौसम का असर मैदानी इलाकों पर पड़ रहा है। अगले सप्ताह के शुरुआत से लेकर तापमान में और भी गिरावट का दौर जारी रहेगा।

मौसम में बदलाव बच्चों और बुजर्गों के लिए घातक

सिविल अस्पताल के डा. भूपेंद्र सिंह का कहना है कि मौसम में बदलाव बच्चों तथा बुजुर्गों के लिए घातक हो सकता है। इस सीजन में सर्दी और खांसी की वजह से छाती की इंफेक्शन होने का खतरा हो सकता है। लोगों को गर्म कपड़े पहनने चाहिए और एहतियात बरतनी चाहिए।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.