Jalandhar Coronavirus Update ः जालंधर में तीन महीने बाद 108 पाजिटिव, 36 फीसद केस सिर्फ स्कूलों से आए

जालंधर मे तीन महीने बाद 108 कोरोना पाजिटिव मरीज आए।

जालंधर में लोगों की लापरवाही के कारण कोरोना ने फिर रफ्तार पकड़ ली और 80 के बाद मरीजों का आंकड़ा 100 के पार पहुंच गया। फरवरी शुरुआत में तो औसतन मरीजों की रोजाना संख्या महज 25 तक रह गई थी लेकिन महीने के आखिरी दिन इसने सारे रिकार्ड तोड़ दिए।

Vinay kumarMon, 01 Mar 2021 06:32 AM (IST)

जालंधर, जेएनएन। जिसका डर था आखिर वही हुआ। लोगों की लापरवाही के कारण कोरोना ने फिर रफ्तार पकड़ ली और 80 बाद मरीजों का आंकड़ा 100 के पार पहुंच गया। इससे पहले दस दिसंबर को एक दिन में सबसे ज्यादा 134 केस रिपोर्ट हुए थे। दिसंबर में सिर्फ तीन दिन ही यह आंकड़ा 100 के पार गया था। तीन दिसंबर को 103 व सात दिसंबर को 136 मरीज आने के बाद हालात काबू में आने लगे थे। फरवरी की शुरुआत में तो औसतन मरीजों की रोजाना संख्या महज 25 तक रह गई थी, लेकिन महीने के आखिरी दिन इसने सारे रिकार्ड तोड़ते हुए 108 लोगों को चपेट में लिया।

सबसे भयावह है कि ताजा केसों में 36 फीसद केस सिर्फ स्कूलों से आए। सरकारी व निजी स्कूलों में छह दिन से कोरोना ने जिस तरह अपने पैर जमाने शुरू किए, उससे अभिभावक भी डरे हुए हैं। मंगलवार से रविवार तक जिलेभर के स्कूलों में 67 छात्र व स्टाफ सदस्य संक्रमित आ चुके हैं। शुरुआती दिनों में सिर्फ अध्यापक ही आ रहे थे लेकिन दो दिन से बच्चों की संख्या अधिक है। दो दिन में 46 विद्यार्थी पाजिटिव आ चुके हैं।  विद्यार्थियों की संख्या बढऩे के बाद जिला शिक्षा विभाग हरकत में आ गया है। संबंधित स्कूलों को 48 घंटे के लिए बंद रखने का आदेश दिया गया है। दो दिन तक स्कूल के कमरों को सैनिटाइज किया जाएगा।

डीईओ हरिंदरपाल सिंह ने कहा कि बच्चों का टेस्ट करवाया जा रहा है। संक्रमित विद्यार्थियों को क्वारंटाइन कर दिया गया है। स्कूलों को भी आगाह किया गया है कि कोरोना गाइडलाइंस का पालन करें। उधर  सेहत विभाग के नोडल अधिकारी डा.टीपी सिंह ने कहा कि कोरोना के मरीजों की गिनती बढ़ने का कारण कोरोना गाइडलाइंस को नजरअंदाज करना है। भीड़ वाले क्षेत्रों में लोग न मास्क लगा रहे और न शारीरिक दूरी के नियमों का ख्याल रख रहे। उन्होंने बताया कि रविवार को दो और मरीजों ने कोरोना के कारण दम तोड़ा।

शहर के इन इलाकों में हैं कोरोना संक्रमित
भार्गव कैंप से दो, बाबा दीप सिंह नगर से एक, करतार नगर से तीन, कमल विहार से तीन, रविदास नगर से दो, सरस्वती विहार से एक, हरगोबिंद नगर से एक, विवेकानंद पार्क में एक मरीज संक्रमित पाया गया।


ये हैं कोरोना के लक्षण, कोई समस्या हैं तो एक बार टेस्ट जरूर करवा लें
-बुखार
- सूखी खांसी
-सांस लेने में तकलीफ.
-कुछ मरीजों में नाक बहना
-गले में खराश,
-नाक बंद होना
-डायरिया

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.