हरियाणा के ध्यानार्थ ) हरियाणा की टीम ने की भोगपुर के बाघा अस्पताल में छापामारी, स्कै¨नग सेंटर सील

फोटो: 38-42,ए, बी

-¨लग जांच के लिए हुआ था 30 हजार रुपये में सौदा, एजेंट महिलाओं से 18 हजार रुपए बरामद

-सेहत विभाग अंबाला ने लोकल टीम का सहयोग न मिलने के आरोप लगाएं

---

जागरण टीम, भोगपुर जालंधर : सेहत विभाग अंबाला (हरियाणा) की टीम ने मंगलवार को हरियाणा पुलिस के साथ जिले के भोगपुर के बाघा अस्पताल में छापामारी की। टीम ने एक गर्भवती महिला के गर्भ में पल रहे शिशु के लिंग जांच के लिए जाल बिछाया था। जैसे ही महिला जांच कराने के बाद अस्पताल से बाहर निकली, बाघा अस्पताल एंड मेटरनिटी होम के स्कै¨नग सेंटर को सील कर दिया गया। मौके पर अंबाला से पहुंची एजेंट समेत तीन महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया और उनसे 18 हजार रुपये बरामद किए गए। सेहत विभाग जालंधर की टीम के देरी से पहुंचने के कारण अस्पताल का डॉक्टर व स्टाफ कमरों को ताले लगाकर फरार हो गया। सेंटर सील कर वहां पुलिस की तैनाती कर दी गई है।

उधर, अस्पताल के डॉक्टर डॉ. हरजीत ¨सह कंग का कहना है कि उन्होंने मंगलवार को अस्पताल में किसी तरह की स्कै¨नग नहीं की। उनके परिवार के सदस्य की मौत हो गई है, इसलिए वे अपने गांव बाघा में हैं।

अंबाला से ही लगाया गया था ट्रैप

सेहत विभाग अंबाला की टीम के नोडल अफसर डॉ. अरविंदर ¨सह ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि अंबाला के आस-पास से महिलाएं भोगपुर में गर्भ में पल रहे भ्रूण के ¨लग की जांच करवाने जाते हैं। उन्होंने एक गर्भवती महिला को इसके लिए तैयार कर डिकोय बनाया और भोगपुर के अस्पताल में छापा मारने की योजना तैयार की।

योजना के तहत मंगलवार को सुबह 7 बजे के करीब अंबाला से दाई हरजीत कौर, गर्भवती महिला व उसकी सास को लेकर निजी गाड़ी में रवाना हुए। लिंग जांच के लिए 30 हजार रुपये में डील फाइनल हुई थी। महिला एजेंट ने गाड़ी के ड्राइवर को सर¨हद की ओर से ले जाने की बात कही। इसके बाद लुधियाना होते हुए जालंधर तक लेकर आई। जबकि हरियाणा सेहत विभाग की टीम भी एक अन्य गाड़ी से इनका पीछा कर रही थी। जालंधर में भोगपुर पहुंचते ही महिला एजेंट ने गाड़ी बस अड्डे के पास एख हलवाई की दुकान पर रुकवा दी। वहां उसे दसूहा में प्रैक्टिस करने वाली डॉ. नरोत्तम पुरी व कुल¨वदर कौर मिलीं। उन्होंने दोनों को गाड़ी में बिठाया और बाघा अस्पताल पहुंच गए। हरियाणा सेहत विभाग की टीम ने गर्भवती महिला को एक उपकरण दिया था, जिससे उन्हें पता चलता रहा कि महिला की लोकेशन कहां है।

डॉ. अरविंदर ने बताया कि डिकोय महिला के अनुसार डॉ. हरजीत ¨सह कंग ने स्कै¨नग की और उसके गर्भ में लड़की होने की बात कही। सेहत विभाग हरियाणा की टीम में शामिल अंबाला के डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. संजीव ¨सगला, डॉ. विपिन भंडारी व डा. निहारिका हरियाणा पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे और उन्होंने डॉ. नरोत्तम पुरी, परमजीत कौर व अंबाला से आई दाई हरजीत कौर को दबोच लिया जबकि कुल¨वदर कौर मौके से फरार हो गई। लोकल टीम का नहीं मिला सहयोग

डॉ. अर¨वदर ¨सह ने बताया कि सेंटर पंजीकृत होने की वजह से हरियाणा की टीम सीधे तौर पर अस्पताल में प्रवेश नहीं कर सकती थी। उन्होंने जालंधर सिविल सर्जन को पूरे मामले की सूचना दी परंतु कोई सहयोग नहीं मिला। इसके सेहत विभाग के डायरेक्टर व पंजाब के सीएम के ओएसडी से बात करने पर करीब ढाई घंटे बाद जालंधर की टीम मौके पर पहुंची। मौके पर कोई भी रिकॉर्ड व स्कै¨नग मशीन लोकल टीम के हाथ नहीं लगी। हरियाणा टीम के अनुसार लोकल टीम ने आरोपितों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.