छह लाख के डॉलर देने का झांसा देकर पकड़ा दिए नकली नोट, चार लाख रुपए भी ठगे, पीड़ित ने आरोपित को पकड़कर पुलिस को सौंपा

जालंधर में एक बेकरी संचालक को 6 लाख की कीमत के अमेरिकी डॉलर देने का झांसा देकर उससे 4 लाख ठग लिए। पीड़ित ने खुद डेढ़ महीने बाद आरोपित को पकड़कर पुलिस के हवाले किया। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

Vinay KumarPublish:Thu, 02 Dec 2021 01:07 PM (IST) Updated:Thu, 02 Dec 2021 01:07 PM (IST)
छह लाख के डॉलर देने का झांसा देकर पकड़ा दिए नकली नोट, चार लाख रुपए भी ठगे, पीड़ित ने आरोपित को पकड़कर पुलिस को सौंपा
छह लाख के डॉलर देने का झांसा देकर पकड़ा दिए नकली नोट, चार लाख रुपए भी ठगे, पीड़ित ने आरोपित को पकड़कर पुलिस को सौंपा

जागरण संवाददाता, जालंधर। जालंधर में वडाला चौक के पास एक बेकरी संचालक को 6 लाख की कीमत के अमेरिकी डॉलर देने का झांसा देकर उससे 4 लाख ठगने और बेकरी संचालक को 6 लाख की कीमत के नकली डॉलर पकड़ने के मामले में थाना डिवीजन छह की पुलिस को दी गई शिकायत के करीब डेढ़ महीने बाद बेकरी संचालक ने बीते बुधवार देर शाम युवक को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। थाना डिवीजन छह की पुलिस ने ठाणे महाराष्ट्र के साईं बाबा चाल निवासी उबेद उल शेख पुत्र पंजू शेख को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ संबंधित धाराओं में केस दर्ज कर लिया है और आरोपित से पूछताछ करनी शुरू कर दी है।

पुलिस को दी शिकायत में सुनील अरोड़ा पुत्र प्रेमपाल अरोड़ा निवासी ग्रैंड कॉलोनी रेलवे रोड ने बताया कि वह भगत सिंह चौक के पास एक बेकरी की दुकान चलाते हैं और करीब डेढ़ महीने पहले उनके पास आरोपित 20 अमेरिकी डॉलर लेकर आया था। आरोपित ने अमेरिकी डॉलर दिखाते हुए उन्हें झांसा दिया था कि अगर वह उसे चार लाख रुपए देते हैं तो आरोपित उन्हें छह लाख की कीमत के अमेरिकी डॉलर देगा। आरोपित के झांसे में आते हुए बेकरी संचालक सुनील अरोड़ा ने दोस्तों और रिश्तेदारों से कर्ज लेकर आरोपित को पैसे दे दिए जिस समय आरोपित को पीड़ित ने पैसे दिए थे उस समय उनके साथ उनका दोस्त मनोज शर्मा और आशु गुप्ता भी मौजूद थे।

बीते बुधवार देर शाम पीड़ित ने आरोपित को वडाला चौक के पास पकड़ लिया और इसकी सूचना पुलिस को दी जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपित को हिरासत में लेते हुए उसके खिलाफ संबंधित धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। पुलिस उसकी गिरफ्तारी दिखाते हुए उसे कोर्ट में पेश करने की तैयारी कर रही है ताकि इस बात का पता लगाया जा सके कि उसने इस तरह की कितनी ठगी जालंधर में की है और इस वारदात में उसके साथ कौन-कौन लोग शामिल थे।