सरकार का वादा पूरा न होते देख लोगों ने खुद ही सरकारी जमीन पर किया कब्जा

बेघरों को पांच-पांच मरले के प्लाट देने का चन्नी सरकार का वादा पूरा न होता देख गांव इस्माइलपुर के लोगों ने खुद ही पंचायत की जमीन पर कब्जा कर लिया।

JagranWed, 08 Dec 2021 02:01 AM (IST)
सरकार का वादा पूरा न होते देख लोगों ने खुद ही सरकारी जमीन पर किया कब्जा

संवाद सहयोगी, महितपुर(जालंधर) : बेघरों को पांच-पांच मरले के प्लाट देने का चन्नी सरकार का वादा पूरा न होता देख गांव इस्माइलपुर के लोगों ने खुद ही पंचायत की जमीन पर कब्जा कर लिया। सौ के करीब परिवारों ने करीब तीन किल्ले जमीन पर सहमति के साथ पांच-पांच मरले के प्लाट भी बांट लिए। सोमवार को जमीन कब्जाने के बाद मंगलवार को उन्होंने अपनी-अपनी जमीन पर टेंट भी लगा लिए और परिवार समेत वे कब्जे की जमीन पर बैठ गए। लोगों का कहना है कि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने वादा किया था कि बेघरों को पांच-पांच मरले जमीन दी जाएगी, लेकिन चुनाव नजदीक आ गए और जमीनें नहीं दी गईं, इसलिए उन्होंने खुद ही पंचायत की जमीन पर कब्जा कर लिया। सर्द रात के बावजूद रात को भी लोगों ने अपना डेरा जमाए रखा। इनके समर्थन भी आसपास के गांवों के लोग पहुंच रहे हैं। गांव बीड़ बंसीयां, मंडियाला, करसैदपुर, संगोवाल की महिलाओं व पेंडू मजदूर यूनियन के नेता विजय बाठ के नेतृत्व में लोग उनके समर्थन में पहुंच गए। उधर इसकी सूचना जिला प्रसासन को मिली तो पुलिस को कब्जा खाली करवाने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। पुलिस ने कब्जाधारियों को चेतावनी दे दर है। वीरवार को पुलिस पंचायत की जमीन खाली करवाएगी। 157 जरूरतमंद लोग करते रहे इंतजार, तंग आकर उठाया कदम

मंगलवार को भारी संख्या में इकट्ठे हुए लोगों से पेंडू मजदूर यूनियन के प्रदेश प्रधान तरसेम पीटर ने संबोधित किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमत्री का बयान है कि हर जरूरतमंद दीवाली पर प्लाट लेकर दीया जलाएगा। दीया न जल सकने वाले गांवों में इस्माइलपुर भी एक है जिसकी करीब तीन किल्ले जमीन जरूरतमंद लोगों को रिहायशी प्लाट देने के लिए रखी गई है। गांव के 157 जरूरतमंद प्रार्थना-पत्र लेकर इंतजार करते रहे लेकिन हर बार बीडीपीओ दफ्तर के अधिकारी टालमटोल करते रहे। जांच के नाम पर लोगों को गुमराह किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि चन्नी सरकार भी अकाली सरकार की तरह लोगों को मूर्ख बना रहा है। सरकार और अधिकारियों की नीयत ठीक नहीं है। देहाती मजदूर सभा के प्रधान दर्शन नाहर, विजय बाठ, सिकंदर, जत्थेदार गगनदीप, हीरा, जगतार, धर्मपाल, राम लुभाया, सीतल भी मौजूद रहे। -----------

सरपंच ने कहा-बेजरूरतमंद लोगों ने कब्जा किया

गांव की सरपंच सुखविदर कौर का कहना है कि उनकी पंचायत ने बीडीपीओ महितपुर को प्रस्ताव दिया था कि यह जमीन गांव के असल जरूरतमंदों के लिए है लेकिन जब उन्होंने जाकर देखा तो असल जरूरतमंद लोग वहां नहीं दिखे। जिन बेजरूरतमंदों ने जमीन पर कब्जा किया है, उनसे प्लाट लेकर उन्हें दिए जाएं, जिनके पास रहने की छत भी नहीं है।

-----------

प्रशासन ने जमीन खाली कराने के आदेश दिए

बीडीपीओ महितपुर जीनत खैहरा ने कहा कि यह गैरकानूनी है। एसएचओ महितपुर को इस बारे लिखित शिकायत देकर कब्जा करने वाले लोगों पर बनती कार्रवाई करने के लिए कह दिया गया है। डीडीपीओ इकबाल सिंह ने बताया कि पूरे घटनाक्रम की जांच के बाद एसएचओ को जमीन खाली करवाने के निर्देश दे दिए गए हैं। पंचायत को मुनादी करवाकर लोगों को खुद ही जमीन खाली करने की हिदायत भी दी गई है। बुधवार को सरकारी छुट्टी होने के चलते अब वीरवार को पुलिस कार्रवाई करेगी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.