दोस्ती का फर्ज अदा करने के लिए आकाश बना कातिल

दोस्ती का फर्ज अदा करने के लिए आकाश बना कातिल

ग्रेटर कैलाश में हुए डबल मर्डर में गिरफ्तार हुए राजा से पूछताछ के बाद पुलिस के सामने एक और सनसनीखेज खुलासा हुआ। पता चला है कि फरार चल रहा हत्यारोपित आकाश उस इमारत में काम नहीं करता था जहां राजा और उसके मामा काम करते थे।

JagranFri, 05 Mar 2021 03:30 AM (IST)

सुक्रांत, जालंधर

ग्रेटर कैलाश में हुए डबल मर्डर में गिरफ्तार हुए राजा से पूछताछ के बाद पुलिस के सामने एक और सनसनीखेज खुलासा हुआ। पता चला है कि फरार चल रहा हत्यारोपित आकाश उस इमारत में काम नहीं करता था जहां राजा और उसके मामा काम करते थे। राजा ने पुलिस को बताया कि उसका असल मामा कोमल है जबकि रामस्वरूप उसकी चाची का भाई है। दोनों को वह अपने पिता व भाई की मौत का कारण मानता था। उसका कहना था कि उसे दोनों तंग करते थे और किसी भी काम के लिए वह उनको मोहताज हो गया था। रविवार को उसने मामा को बिना बताए ठेकेदार से छुट्टी ली और लुधियाना में रहने वाले अपने दोस्त आकाश के पास चला गया। आकाश राजा का बचपन का दोस्त था और दोनों एक साथ छतरपुर से जालंधर काम ढूंढने के लिए भी आए थे। आकाश से मिलने के बाद उसने अपना सारा दुख उसके साथ साझा किया जिसके बाद आकाश ने मामा को रास्ते से हटाने के लिए कहा। आकाश ने उसे कहा कि वह उसका दोस्त है और दोस्ती के लिए वह उसका साथ देगा। आकाश के कहने से राजा का गुस्सा जोश में बदल गया और दोनों ने वहीं पर हत्या की साजिश बनाई।

----

भाई की मौत के बाद राजा ने भाभी पर डाली थी चादर, मामा गर्भवती पत्नी को जालंधर लाने से रोकता था

राजा ने रिमांड के दौरान पुलिस को बताया कि उसके पिता और भाई की मौत के बाद भी कोमल और रामस्वरूप उसे दबाते थे और उसकी मां भी अपने भाईयों का साथ ही देती थी। राजा ने अपने भाई की मौत के बाद अपनी भाभी पर चादर डालकर शादी कर ली थी। अब उसकी पत्नी गर्भवती थी जिसके चलते वो उसे जालंधर में अपने पास लाना चाहता था लेकिन कोमल और रामस्वरूप उसे ऐसा नहीं करने दे रहे थे। इस बात ने उसके गुस्से की आग में घी डालने का काम किया था।

----

आकाश के पास मोबाइल न होने से पुलिस ने किया उसके परिजनों का मोबाइल ट्रेस

राजा के दोस्त आकाश की तलाश में जुटी पुलिस को उसे ढूंढने में मुश्किल आ रही है क्योंकि राजा के पास मोबाइल नहीं था। लुधियाना में आकाश के होने की सूचना पर पुलिस जब वहां पहुंची तो वो वहां से भी गायब हो गया जिसके बाद पुलिस ने उसके एक रिश्तेदार को राउंडअप किया। उससे पूछताछ के बाद पुलिस ने उसके कई ठिकानों पर रेड की लेकिन वो नहीं मिला। ऐसे में अब पुलिस ने आकाश के यूपी गोरखपुर में रहने वाले परिजनों और रिश्तेदारों के मोबाइल फोन ट्रेस करने शुरू कर दिए। ----

चिकन के साथ साथ रामस्वरूप का हाथ भी खा गए थे कुत्ते

पुलिस जांच में सामने आया कि रामस्वरूप और कोमल की हत्या में ईंट, हथौड़ी के साथ साथ किसी तीखी चीज का भी इस्तेमाल किया गया है। रामस्वरूप का हाथ किसी तीखे हथियार से कटा है लेकिन हाथ अलग नहीं हुआ बल्कि लटक गया था। ऐसे में रात को दोनों की हत्या के बाद शव पड़े थे तो वहां पर घूमने वाले कुत्ते पतीले में पड़ा चिकन और उसका हाथ भी साथ ही खींच कर ले गए ----

खून से सने कपड़े और हथौड़ी बरामद

पुलिस को हत्या में इस्तेमाल होने वाली हथौड़ी और खून से सने हत्यारोपियों के कपड़े भी बरामद हो गए। राजा की निशानदेही पुलिस ने हत्यास्थल के पास ही स्थित एक प्लाट से दोनों चीजें बरामद कर ली हैं। अब पुलिस आकाश की तलाश कर रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.