जालंधर में निगम दफ्तर में ज्ञापन देने गए पार्षद समराए को नहीं मिला कोई अधिकारी, कमिश्नर ने भी नहीं उठाया फोन

जालंधर में निगम दफ्तर में ज्ञापन देने गए पार्षद समराए को कोई अधिकारी नहीं मिला। समराए ने कहा कि जब कोई अधिकारी नहीं मिला तो निगम कमिश्नर के पीए को ज्ञापन देकर लौट गए। कहा कि जब निगम अधिकारी दफ्तर में ही नहीं मिलेंगे तो लोगों के काम कैसे होंगे।

Vinay KumarSat, 19 Jun 2021 10:47 AM (IST)
जालंधर में ज्ञापन देने गए पार्षद समराए को निगम दफ्तर में नहीं मिला कोई अधिकारी।

जालंधर, जेएनएन। जालंधर में पार्षद जगदीश समराए शुक्रवार को स्टाफ की कमी को पूरा करने की लिए नई भर्ती से संबंधित ज्ञापन देने के लिए निगम दफ्तर पहुंचे तो वहां कोई भी अधिकारी मौजूद नहीं था। एसई से लेकर कमिश्नर तक आफिस में मौजूद नहीं थे। समराए ने कहा कि उन्होंने दो बार कमिश्नर को फोन भी किया, लेकिन उन्होंने फोन पिक नहीं किया। समराए ने कहा कि जब कोई अधिकारी नहीं मिला तो निगम कमिश्नर के पीए को ज्ञापन देकर लौट गए। उन्होंने कहा कि जब नगर निगम अधिकारी दफ्तर में ही नहीं मिलेंगे तो लोगों के काम कैसे होंगे। इसके लिए एक शेड्यूल भी फिक्स होना चाहिए कि अधिकारी तय समय के दौरान दफ्तर में मौजूद रहें।

डा. जसलीन सेठी कर चुकी हैं लिखित में मांग

पब्लिक डीलिंग के लिए अधिकारियों की नगर निगम आफिस में मौजूदगी लाजमी बनाने के लिए पार्षद डा. जसलीन सेठी भी आवाज उठा चुकी हैं। उन्होंने बकायदा लिखित रूप में कमिश्नर से मांग की थी कि अधिकारियों के रोजाना आफिस बैठने का समय तय किया जाए, ताकि विभिन्न कार्यों से आने वाले लोगों को परेशानी न हो। डा. जसलीन सेठी का कहना है कि लोग अपने काम करवाने के लिए निगम ऑफिस आते हैं लेकिन अफसर मौजूद नहीं रहते। काम न होने से सरकार की छवि खराब होती है।

मुस्लिम डेमोक्रेटिक फ्रंट ने कब्रिस्तान के लिए ग्रांट मांगी

जालंधर : पंजाब मुस्लिम डेमोक्रेटिक फ्रंट के प्रदेश अध्यक्ष अख्तर सलमानी ने मुस्लिम समाज के लिए कब्रिस्तान बनाने को जरूरी बताया है। इसके साथ ही कब्रिस्तान के लिए ग्रांट जारी करने की मांग को लेकर वक्फ बोर्ड के सदस्य कलीम आजाद को मांगपत्र दिया गया। इस दौरान उनके साथ करतारपुर के प्रधान मुस्तकीम अहमद, उपप्रधान हाशिम अलवी, शादाब अंसारी व अब्दुल रहमान भी मौजूद थे। इस दौरान अख्तर सलमानी ने कहा कि कब्रिस्तान को लेकर पिछले लंबे समय से मांग की जा रही है। इसके लिए बोर्ड को जल्द से जल्द ग्रांट जारी करनी चाहिए। कलीम आजाद ने अपनी तरफ से हर संभव सहयोग देने का विश्वास दिलाया। इस मौके पर उनके साथ मुस्तकीम अहमद, उप प्रधान हाशिम अल्वी, शादाब अंसारी, अब्दुल रहमान व डा. एहसान भी मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.