अब जालंधर के सरकारी स्कूलों में तैयार होंगे सेना के जवान, बच्चों को फिजिकल ट्रेनिंग देंगे शिक्षक

शिक्षा विभाग की फिट इंडिया मुहिम के तहत विद्यार्थियों को स्कूल में ही भर्ती के लिए तैयार किया जाएगा।

शिक्षा विभाग की फिट इंडिया मुहिम के तहत जालंधर के विद्यार्थियों को स्कूल में ही शारीरिक योग्यता टेस्ट के लिए तैयार किया जाएगा। टेस्ट की तैयारी करवाने के लिए फिजिकल एजुकेशन शिक्षक का अहम रोल अदा किया जाएगा।

Rohit KumarTue, 02 Mar 2021 12:49 PM (IST)

जालंधर, कमल किशोर। अब सरकारी स्कूलों में सेना के जवान तैयार होंगे। विद्यार्थियों को स्कूल में ही शारीरिक योग्यता टेस्ट के लिए तैयार किया जाएगा। टेस्ट की तैयारी करवाने के लिए फिजिकल एजुकेशन शिक्षक का अहम रोल अदा किया जाएगा। यह तैयारी शिक्षा विभाग की फिट इंडिया मुहिम के तहत करवाई जाएगी। इसी के साथ विद्यार्थियों को समय-समय पर होने वाली आर्मी भर्ती से अवगत करवाने की जिम्मेवारी शिक्षकों की होगी। स्कूल प्रबंधन की जिम्मेवारी होगी जो विद्यार्थी आर्मी में भर्ती होगा, उसका रिकार्ड अपने पास रखना होगा। आर्मी में करियर बनाने के लिए शारीरिक योग्यता टेस्ट जरूरी होता है। शिक्षा विभाग का कहना है कि विद्यार्थियों को खेलों के साथ जोड़ने के लिए खेल मैदानों को स्मार्ट किया जा रहा है ताकि शारीरिक रूप से फिट रह सकें।

यह भी पढ़ें -   Jalandhar CoronaVirus Update: जालंधर के स्कूलों में बन रही कोरोना की चेन, शिक्षा और सेहत विभाग हुआ अलर्ट

आर्मी के लिए विद्यार्थियों को करवानी होगी यह एक्सरसाइज

आर्मी की भर्ती के लिए फिजिकल एजुकेशन के शिक्षकों की जिम्मेवारी होगी कि रोजाना विद्यार्थियों को अभ्यास करवाए। शिक्षक विद्यार्थियों को 1.8 किमी की दौड़ 5.30 मिनट तक, पुशअप छह से दस तक करवाने होंगे। जिग जैग बैलेंस, नौ फीट खाई को छलांग लगाकर पार करने संबंधित ट्रेनिंग भी शामिल है। शिक्षकों की जिम्मेवारी होगी कि विद्यार्थियों में आर्मी के प्रति रुचि पैदा करनी होगी।

यह भी पढ़ें -    जालंधरवासियों पर महंगाई की एक और मार, 25 रुपये प्रति यात्री तक पहुंचा थ्री व्हीलर किराया

स्कूल प्रबंधन रखेगा रिकार्ड

डिस्ट्रिक मेनटोर इकबाल सिंह रंधावा ने कहा कि फिट इंडिया मूवमेंट के तहत सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को आर्मी की फिजिकल ट्रेनिंग दी जाएगी। फिजिकल ट्रेनिंग देने की जिम्मेवारी फिजिकल एजुकेशन के शिक्षकों की होगी। जिस स्कूल विद्यार्थी की भर्ती आर्मी में हो जाती है तो स्कूल प्रबंधन को उसका रिकार्ड रखना होगा। आर्मी में भर्ती के लिए फिजिकल योग्यता टेस्ट संबंधित व्यायाम स्कूल के भीतर करवाएं जाएंगे। शिक्षकों की जिम्मेवारी होगी कि समय-समय पर आर्मी भर्ती संबंधी जानकारी विद्यार्थियों को देनी होगी।

 

 

 

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.